Bharat Jodo Yatra : राहुल गांधी की पदयात्रा में बच्चों पर विवाद, जानें क्या है पूरा मामला

 कांग्रेस की 'भारत जोड़ो यात्रा' पर निकले राहुल गांधी एक बार फिर विवादों में फंस गए हैं। इस वह राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) के निशाने पर आ गए हैं। आयोग ने कहा कि चुनाव आयोग को पत्र लिखकर कहा कि 'भारत जोड़ो यात्रा' में बच्चों का दुरुपयोग किया जा रहा है।

Controversy over children in Rahul Gandhi's Bharat Jodo Yatra, know what is the whole matter
राहुल गांधी की भारत जो़ड़ो यात्रा पर विवाद  |  तस्वीर साभार: Twitter

नई दिल्ली: बाल अधिकार निकाय राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार को पत्र लिखकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी, पार्टी नेताओं और उसकी बाल शाखा 'जवाहर बाल मंच' के खिलाफ कार्रवाई और जांच की मांग की है। पत्र में कहा गया कि अपने जन संपर्क कार्यक्रम, 'भारत जोड़ो यात्रा' में बच्चों का दुरुपयोग किया जा रहा है। उसका राजनीतिक टूल के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। NCPCR ने 12 सितंबर की एक शिकायत का हवाला देते हुए कहा कि यह आरोप लगाया गया है कि गांधी, उनकी पार्टी और बच्चों के लिए उसका संगठन 'जवाहर बाल मंच' राजनीतिक इरादों से बच्चों को निशाना बना रहे हैं। उसे राजनीतिक गतिविधियों में शामिल कर रहे हैं।

शिकायतकर्ता के अनुसार, कांग्रेस ने 07 सितंबर, 2022 को एक जन संपर्क कार्यक्रम 'भारत जोड़ो यात्रा' नाम से एक राष्ट्रव्यापी राजनीतिक अभियान शुरू किया है और इसकी स्थापना के बाद से सोशल मीडिया पर कई परेशान करने वाली तस्वीरें और वीडियो प्रसारित हो रहे हैं, जिसमें यह देखा जा सकता है कि बच्चों को निशाना बनाया जा रहा है और 'भारत जोड़ो बच्चे जोड़ो' के नारे के तहत एक राजनीतिक एजेंडा के साथ इस अभियान को चलाया जा रहा है।

बाल अधिकार निकाय ने यह भी कहा कि शिकायत में आरोप लगाया गया है कि अभियान में भाग लेने वाले बच्चों को कांग्रेस पार्टी के झंडे पकड़े और राजनीतिक नारे लगाते हुए देखा गया। NCPCR ने कहा कि शिकायतकर्ता ने बताया कि कांग्रेस की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, 'जवाहर बाल मंच' उसका आंतरिक विभाग है, जिसका गठन 7 से 18 वर्ष की आयु के बच्चों को टारगेट करने के लिए बनाया गया था।

NCPCR ने अपने पत्र में रेखांकित किया कि आरोप लगाया गया है कि 'भारत जोड़ो बच्चे जोड़ो' अभियान 'जवाहर बाल मंच' द्वारा आयोजित किया गया है, जो अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के अनुसार, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का एक विभाग है और उनके राजनीतिक अभियान के हिस्से के रूप में, राहुल गांधी स्कूल, नाबालिग छात्रों के साथ बातचीत करना और उन्हें जवाहर बाल मंच के माध्यम से राजनीतिक अभियानों में भाग लेने के लिए दौरा कर रहे हैं।

NCPCR ने आरोप लगाया कि यह चुनाव आयोग के नियमों का उल्लंघन है जो कहता है कि केवल वयस्क ही राजनीतिक दल का हिस्सा हो सकते हैं।

पत्र के मुताबिक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) एक राजनीतिक दल के रूप में रजिस्टर्ड है, पार्टी द्वारा स्थापित या संगठित कोई भी अलग विंग उस पार्टी का एक हिस्सा है जो नेचर में पॉलिटिकल है। इसलिए, 'जवाहर बाल मंच' कांग्रेस की एक राजनीतिक शाखा है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संविधान और नियमों के अनुच्छेद V के अनुसार, केवल 18 वर्ष से अधिक आयु के लोग ही सदस्यता के लिए आवेदन कर सकते हैं। इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि भारत के चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों के अनुसार, किसी पार्टी की सदस्यता केवल वयस्क भारतीय नागरिकों (अर्थात 18 वर्ष से अधिक आयु) के लिए खुली होगी। इस संबंध में, कांग्रेस चुनाव आयोग द्वारा इन दिशानिर्देशों और चुनाव आयोग को सौंपे गए अपने स्वयं के नियमों का भी उल्लंघन कर रही है। शिकायत में बताए गए आरोपों के मद्देनजर, आयोग ने CPCR एक्ट, 2005 की धारा 13/(I) (j) के तहत संज्ञान लेना उचित समझा क्योंकि बाल अधिकारों का प्रथम दृष्टया उल्लंघन है।

NCPCR ने जोर देकर कहा कि बच्चों का उपयोग राजनीतिक एजेंडे को पूरा करने के लिए सहारा के रूप में बाल शोषण है जो उनके मानसिक स्वास्थ्य पर गंभीर दीर्घकालिक प्रभाव डाल सकता है और भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के खिलाफ है। पत्र में कहा गया है कि आयोग आपसे मामले को देखने और घटनाओं की गहन जांच करने और शिकायत में उल्लिखित राजनीतिक दल और उसके सदस्यों के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने का अनुरोध करता है। कांग्रेस ने 7 सितंबर को अपनी कन्याकुमारी से कश्मीर भारत जोड़ो यात्रा शुरू की। यह यात्रा पांच महीने की अवधि में 3,570 किलोमीटर की दूरी तय करेगी।
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर