कांग्रेस नेता के ये कैसे बोल- 15 साल मे प्रजनन योग्य हो जाती है लड़की, शादी की उम्र बढ़ाने की क्या जरूरत

देश
Updated Jan 13, 2021 | 21:46 IST | भाषा

सज्जन सिंह वर्मा के बयान पर प्रदेश भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताई है। मध्य प्रदेश भाजपा की मीडिया प्रवक्ता नेहा बग्गा ने कहा, 'वर्मा ने देश की बेटियों का अपमान किया है। क्या वह भूल गए कि उनकी अध्यक्ष महिला हैं?

Sajjan Singh Verma
सज्जन सिंह वर्मा 

भोपाल: मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता एवं प्रदेश के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने बुधवार को बेटियों के बारे में विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा कि 15 साल में बच्चियां प्रजनन के लायक हो जाती हैं, तो उनकी शादी की उम्र 21 साल करने की क्या जरूरत है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा देश में बेटियों की शादी की उम्र 18 से बढ़ाकर 21 साल करने के लिए समाज में बहस की वकालत किए जाने पर टिप्पणी करते हुए वर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'डॉक्टर कहते हैं कि 15 साल के बाद ही बच्ची प्रजनन के योग्य हो जाती है। ये (चौहान) बड़े डॉक्टर हो गए हैं क्या? लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल करने की क्या जरूरत है।'

इसके अलावा, उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश की भाजपा नीत सरकार नाबालिग बच्चियों के साथ हो रहे बलात्कारों को रोकने में विफल है। वर्मा ने कहा कि मध्य प्रदेश नाबालिगों लड़कियों के साथ बलात्कार के मामले में देश में अव्वल है और मुख्यमंत्री को दिखावे की राजनीति करने की बजाय ऐसे मामलों में सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। 

BJP हुई हमलावर

वर्मा के बयान पर प्रदेश भाजपा ने कड़ी आपत्ति जताई है। मध्य प्रदेश भाजपा की मीडिया प्रवक्ता नेहा बग्गा ने कहा, 'वर्मा ने देश की बेटियों का अपमान किया है। क्या वह भूल गए कि उनकी (कांग्रेस) अध्यक्ष (सोनिया गांधी) महिला हैं? क्या वह भूल गए कि उनकी नेता प्रियंका गांधी भी महिला हैं? मैं सोनिया गांधी से आग्रह करती हूं कि वह वर्मा के इस बयान के लिए उनसे सार्वजनिक तौर पर माफी मंगवाएं और यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो उन्हें पार्टी से बर्खास्त करें।'

शिवराज ने छेड़ी बहस

मालूम हो कि मुख्यमंत्री ने दो दिन पहले यहां एक कार्यक्रम में कहा था, 'कई बार मुझे लगता है कि समाज में बहस होनी चाहिए कि बेटियों की शादी की उम्र 18 रहनी चाहिए या इसे बढ़ाकर 21 साल कर देना चाहिए। मैं इसे बहस का विषय बनाना चाहता हूं। प्रदेश सोचे, देश सोचे ताकि इस पर कोई फैसला किया जा सके।'

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर