DDC Election Jammu Kashmir: गुपकार अलायंस में कांग्रेस, डीडीसी चुनाव में करेगी शिरकत

गुपकार अलांयस में शामिल होकर कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर में डीडीसी चुनाव में शामिल होने का फैसला किया है। गुपकार से जुड़े फारुक और महबूबा मुफ्ती हमेशा 370 की वापसी की मांग करते हैं।

DDC Election Jammu Kashmir: गुपकार अलायंस में कांग्रेस, डीडीसी चुनाव में करेगी शिरकत
गुपकार अलायंस की फारुक अब्दु्ल्ला कर रहे हैं अगुवाई 

मुख्य बातें

  • डीडीसी चुनावों में शिरकत करेगी कांग्रेस, गुपकार का होगी हिस्सा, धर्मनिरपेक्षता का दिया हवाला
  • जम्मू-कश्मीर के क्षेत्रीय दलों ने बनाया है गुपकार अलायंस
  • महबूबा मुफ्ती और फारुक अब्दुल्ला अनुच्छेद 370 और 35ए की वापसी की मांग करते हैं।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के करीब 6 क्षेत्रीय दलों ने एक संगठन गुपकार अलायंस बनाया है जिसका मकसद अनुच्छेद 370 और 35ए की वापसी है। इस संगठन ने आगामी डीडीसी यानी जिला विकास परिषद के चुनावों में शामिल होने का फैसला किया है। पहले इस अलायंस में कांग्रेस के शामिल होने को लेकर सस्पेंस था। लेकिन अब खबर आ रही है कि कांग्रेस भी इस अलायंस का हिस्सा होकर चुनावी प्रक्रिया में शामिल होगी। इस संबंध में अलायंस के प्रेसिडेंट फारुक अब्दुल्ला ने उम्मीद जताई थी कि कांग्रेस उनकी मुहिम में शामिल होगी। 

डीडीसी चुनाव में शामिल होगी कांग्रेस
जम्मू-कश्मीर कांग्रेस ईकाई के रविंद्र शर्मा ने कहा कि समान विचारधारा वाले धर्मनिरपेक्ष दलों के साथ चुनावी समायोजन के लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी जिला-विकास परिषद (डीडीसी) के चुनावों में राष्ट्रीय सम्मेलन समेत अन्य कार्यक्रमों में हिस्सा लेगी। DDC चुनाव 22 नवंबर और 19 दिसंबर के बीच 8 चरणों में आयोजित किया जाएगा 22 दिसंबर को मतगणना होगी।


गुपकार के नापाक बोल
गुपकार का गठन पांच अगस्त 2019 से पहले किया जब इस तरह की सुगबुगाहट थी कि अनुच्छेद 370 को हटाया जाएगा। गुपकार से जुड़े नेता इस बात का ऐलान कर रहे थे कि किसी भी कीमत पर अनुच्छेद 370 को हटाया नहीं जा सकता है खून की नदियां बहेंगी। इस तरह से भड़काऊ बयान दिये जाते रहे। जब अनुच्छेद 370 को हटाया गया तो उसके बाद कई नेताओं को नजरबंद किया गया। बाद में जब इन नेताओं की रिहाई तो इस संगठन से जुडे़ नेता अक्टूबर के महीने में बैठक की और साफ ऐलान किया कि लड़ाई जारी रहेगी। गुपकार के गठन के दौरान फारुक अब्दुल्ला ने कहा कि वो चीन की मदद से अनुच्छेद 370 वापस लेंगे। महबूबा मुफ्ती ने यहां तक कहा कि वो तिरंगा नहीं उठाएंगी। लेकिन बाद में दोनों लोगों ने सफाई दे दी। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर