Rajnath Singh के बयान के बाद चीन के नरम गरम सुर, शांति और लड़ाई दोनों के लिए तैयार

देश
ललित राय
Updated Sep 16, 2020 | 09:13 IST

india china standoff: भारत चीन तनाव पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद चीन भड़का हुआ है। चीन के सरकारी अखबार का कहना है कि सर्दियों के समय तनाव और बढ़ेगा।

Rajnath Singh के बयान के बाद चीन के नरम गरम सुर, शांति और लड़ाई दोनों के लिए तैयार
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद चीन के नरम गरम बोल 

मुख्य बातें

  • रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बयान के बाद चीन आगबबूला, शांति और लड़ाई दोनों का राग अलापा
  • राजनाथ सिंह ने बताया कि लद्दाख में तनाव के लिए चीन पूरी तरह जिम्मेदार
  • भारतीय जवानों ने साबित कर दिया कि वो किसी भी समय 100 फीसद देने में सक्षम

नई दिल्ली। मंगलवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विस्तार से पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तनाव के बारे में सदन और देश को बताया। उन्होंने कहा कि किस तरह से चीन शांति समझौतों से कन्नी काटी और एलएसी पर माहौल को तनावपूर्ण कर दिया। लेकिन भारतीय सेना के वीर जांबाजों ने साबित कर दिया कि वो कितने पेशेवर और देश की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध हैं। लेकिन चीन के सरकारी अखबार ने उकसाने वाली बात कही है। ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि सर्दियों के समय तनाव और बढ़ेगा।

राजनाथ सिंह के बयान के बाद चीन की धमकी
सीमावर्ती क्षेत्रों पर भारतीय फौज ने अपनी चहलकदमी कम कर दी है। भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के संबोधन से मेल खाता है। यह चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के मजबूत दबाव का परिणाम है।PLA चीन-भारत सीमा क्षेत्रों में अपनी तैनाती बढ़ा रहा है और कठोर कार्रवाई कर रहा है, जिसने एक सशस्त्र संघर्ष के टूटने के बाद साइट पर भारतीय सैनिकों का सफाया करने के लिए एक भारी गति का गठन किया है। इसने भारतीय सेना को वास्तव में महसूस कराया है कि चीन के साथ सैन्य टकराव में उलझना एक जुआ है जिसे वे आसानी से बर्दाश्त नहीं कर सकते।

भारत के कुछ राजनीतिक दलों पर भी इशारा
भारत में अलग-अलग ताकतें हैं। कुछ अति-राष्ट्रवादी लोग आसानी से आसान तरीके से इनकार करते हैं, और कठिन रास्ते से चिपके रहते हैं। जब चीन भारत के साथ कूटनीतिक वार्ता में संलग्न होता है, तो उसे केवल उसी भाषा का उपयोग करना चाहिए, जिसे सेना समझ सके - सहयोग लंबे समय तक चलेगा जब उसे संघर्षों के माध्यम से हासिल किया जाएगा।चीन को भारत-चीन सीमा विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिए प्रयास करते रहना चाहिए, लेकिन अपनी सेना को तैयार रखना चाहिए। मजबूत सैन्य दबाव के बिना, भारत सीमा मुद्दों पर व्यवहार नहीं करेगा।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर