'भारत जोड़ो यात्रा नहीं बल्कि भारत तोड़ो यात्रा, कांग्रेस की औपनिवेशिक सोच जाती नहीं'

राजस्थान में बलात्कार के मुद्दे पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि उनका बयान संवेदनहीन है। वो चाहते हैं कि इस विषय पर समग्र तौर पर सवाल उठाया जाए। इसके साथ ही भारत जोड़ो यात्रा को भारत तोड़ो यात्रा बताया।

Bharat Jodo Yatra, Congress, BJP, Sambit Patra, Rahul Gandhi, Sonia Gandhi
संबित पात्रा, बीजेपी प्रवक्ता 
मुख्य बातें
  • सात सितंबर से कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा
  • कन्याकुमारी से होगा आगाज
  • सिविल सोसाइटी के खास लोगों से राहुल गांधी ने की थी मुलाकात

कांग्रेस, भारत जोड़ो यात्रा का आगाज करने जा रही है। उससे ठीक पहले राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने रेप के मुद्दे पर बयान दिया था कि करीब 50 फीसद केस तो यूं ही दर्ज कराए जाते हैं जिसका कोई आधार नहीं होता है। और उसके अलावा जो मामले सामने आते हैं उसमें सगे संबंधी ज्यादा लिप्त पाए जाते हैं। उनके इस बयान पर बीजेपी की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है। प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि जिस राज्य का मुखिया इस तरह की बात करे तो क्या आपको लगता है कि महिलाओं के अस्मत की हिफाजत होगी। क्या महिलाएं पुलिस स्टेशन जाकर अपने खिलाफ हुए जुर्म का जिक्र कर सकेंगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा दिखावटी है। अगर कांग्रेस वास्तव में भारत को जोड़ना चाहती है तो उसे भ्रष्टाचार छोड़ना होगा। अगर वास्तव में भारत जोड़ना है तो परिवारवाद की संस्कृति को तिलांजलि देनी होगी।


संबित पात्रा ने और क्या कहा
  • कांग्रेस की औपनिवेशिक सोच जाती नहीं
  • गुलाम नबी आजाद से सच सामने रखा
  • गांधी परिवार बचाओ आंदोलन शुरू होने जा रह है
  • कांग्रेस भारत जोड़ो नहीं भारत तोड़ो आंदोलन शुरू करने जा रही है। 
  • जो भ्रष्टाचार छोड़ेगा वही भारत जोड़ेगा

Congress की 'भारत जोड़ो यात्रा' का केंद्र रहेंगे राहुल गांधी, यात्रा के दौरान टेंट में गुजारेंगे रात

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा
बता दें कि कांग्रेस पार्टी ने सात सितंबर से भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने जा रही है। कन्याकुमारी से कश्मीर तक  3570 किलोमीटर की यात्रा होगी। जिसके जरिए कांग्रेस की कोशिश है कि देश के आम लोगों को पार्टी से जोड़ा जा सके। इस यात्रा के जरिए ज्यादा से ज्यादा लोग को जोड़ने की कोशिश है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सिविल सोसायटी के करीब 150 लोगों से बात की। खास बात यह है कि सिविल सोसायटी में वो लोग भी शामिल थे जो एक समय अन्ना आंदोलन से जुड़े हुए थे। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर