पांच राज्यों के लिए चुनावी तारीख पर एक नजर, सत्ता बचाने और कब्जाने की दिलचस्प लड़ाई

देश
श्वेता कुमारी
Updated Feb 27, 2021 | 06:00 IST

चार राज्‍यों व एक केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। यहां सत्‍ता बचाने और इसे कब्‍जाने की दिलचस्‍प लड़ाई इस चुनाव में देखने को मिलेगी। 

पांच राज्यों के लिए चुनावी तारीख पर एक नजर, सत्ता बचाने और कब्जाने की दिलचस्प लड़ाई
पांच राज्यों के लिए चुनावी तारीख पर एक नजर, सत्ता बचाने और कब्जाने की दिलचस्प लड़ाई  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली : निर्वाचन आयोग ने चार राज्‍यों पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम और केरल तथा केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है, जिसके मुताबिक, चुनाव प्रक्रिया 27 मार्च से शुरू हो जाएगी और अलग-अलग चरणों में यह 29 अप्रैल को संपन्‍न होगी। सभी राज्‍यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान 2 मई को होगा, जब वोटों की गिनती की जाएगी।

चुनाव आयोग की इस घोषणा के साथ ही सभी चुनावी राज्यों और पुडुचेरी में चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है। विधानसभा चुनाव की यह प्रक्रिया उक्‍त राज्‍यों की कुल 824 सीटों पर संपन्‍न होगी, जिसमें 18.68 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का इस्‍तेमाल कर सकेंगे। इसके लिए 2.7 लाख मतदान केंद्र बनाए गए हैं। विभिन्‍न राज्‍यों में इस दौरान सत्ता बचाने और कब्जाने की दिलचस्प लड़ाई देखने को मिलेगी।

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव पर देशभर की नजरें हैं। बीजेपी यहां सत्‍ता कब्‍जाने की जुगत में है और इसके लिए पार्टी ने यहां पूरी ताकत झोंक रखी है। वहीं ममता बनर्जी की अगुवाई में सत्‍तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस अपना गढ़ बचाने की कोशिश में लगी है। बीते कुछ समय में चुनाव प्रचार के दौरान बीजेपी और टीएमसी के बीच की जुबानी जंग ने खूब सुर्खियां बटोरी। दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

यहां सियासी नतीजे क्‍या होंगे, इसका पता तो 2 मई को ही चल पाएगा, जब रिजल्‍ट की घोषणा होगी, लेकिन यहां चुनाव बेहद दिलचस्‍प होने जा रहा है, जहां मुख्‍य मुकाबला फिलहाल सत्‍तारूढ़ टीएमसी और बीजेपी के बीच नजर आ रहा है। टीएमसी को सत्ता से हटाने के लिए बीजेपी ने यहां एड़ी-चोटी का जोर लगा रखा है तो टीएमसी भी बीजेपी को बंगाल से दूर रखने के लिए पूरी जोर आजमाइश कर रही है।

पश्चिम बंगाल में पिछला विधानसभा चुनाव सात चरणों में संपन्न हुआ था, जबकि इस बार यह आठ चरणों में कराया जा रहा है। राज्‍य की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने इसे लेकर केंद्र सरकार पर निशाना भी साधा है और कहा कि चुनाव भले ही आठ चरण में हो, पर जीत बीजेपी की नहीं होगी। टीएमसी यहां बीते 10 वर्षों से सत्‍ता में है। वह सबसे पहले 2011 में वामपंथी सरकार को सत्‍ता से हटाकर यहां सत्‍तासीन हुई थी।

बीते विधानसभा चुनाव के नतीजों की बात करें तो तृणमूल कांग्रेस को यहां 211 सीटों पर जीत मिली थी, बीजेपी को महज तीन सीटों से संतोष करना पड़ा था। कांग्रेस को 44 सीटें और माकपा को 26 सीटें मिली थीं। लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में शानदार प्रदर्शन के बाद बीजेपी का मनोबल बढ़ा है और उसने पूरी ताकत झोंक रखी है। यहां बंगाल चुनाव से जुड़ी तारीखों पर संक्षेप में डालें एक नजर : 

एक नजर में बंगाल चुनाव
विधानसभा कार्यकाल की वैधता- 30 मई
विधानसभा सीटें- 294
मतदान चरण- 8
पहले चरण का मतदान- 27 मार्च
दूसरे चरण का मतदान- 1 अप्रैल
तीसरे चरण का मतदान- 6 अप्रैल
चौथे चरण का मतदान- 10 अप्रैल
पांचवें चरण का मतदान- 17 अप्रैल
छठे चरण का मतदान- 22 अप्रैल
सातवें चरण का मतदान- 26 अप्रैल
आठवें चरण का मतदान-29 अप्रैल
मतगणना- 2 मई

असम

पश्चिम बंगाल जहां सत्‍ता बचाने की चुनौती टीएमसी के पास है, वहीं पूर्वोत्‍तर के राज्‍य असम में यह चुनौती बीजेपी के सामने है। यहां बीजेपी का मुकाबला कांग्रेस और एआईयूडीएफ के गठबंधन से है। 2016 के विधानसभ चुनाव में कांग्रेस के बीते 10 वर्षों के शासन का अंत करते हुए बीजेपी यहां सत्‍ता में आई थी। यह पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में बीजेपी की पहली ऐसी जीत थी, जिसने सियासी पंडितों को भी हैरान कर दिया था।

बीते विवधानसभा चुनाव की बात करें तो बीजेपी को यहां 60 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि उसके सहयोगियों असम गण परिषद को 14 और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट को 12 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। बीजेपी ने तत्कालीन सांसद सर्वानंद सोनोवाल को राज्‍य का मुख्यमंत्री बनाया था। कांग्रेस को उस चुनाव में 26 सीटें मिली थीं, जबकि सांसद बदरूदृदीन अजमल के नेतृत्व वाले एआईयूडीएफ को 13 सीटों पर जीत मिली थी।

एक नजर में असम चुनाव
विधानसभा कार्यकाल की वैधता- 31 मई
विधानसभा सीटें- 126
मतदान चरण- 3
पहले चरण का मतदान- 27 मार्च
दूसरे चरण का मतदान- 1 अप्रैल
तीसरे चरण का मतदान- 6 अप्रैल
मतगणना- 2 मई

तमिलनाडु

तमिलनाडु में बीते 10 वर्षों से ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (AIADMK) का शासन है। राज्य की जनता ने वर्ष 2016 के विधानसभा चुनाव में AIADMK प्रमुख जे जयललिता को दोबारा सत्‍ता सौंपी थी। हालांकि जयललिता का कुछ ही दिनों बाद दिसंबर 2016 में निधन हो गया, जिसके बाद पार्टी में आंतरिक कलह भी सामने आया। इस बार AIADMK यहां बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है।

बीते चुनाव की बात करें तो AIADMK को 135 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) के खाते में 88 सीटें गई थीं। कांग्रेस को आठ सीटों पर जीत मिली थी, जबकि बीजेपी का खाता भी नहीं खुला था। इस बार AIADMK जहां बीजेपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है, वहीं DMK का गठबंधन कांग्रेस के साथ है।

एक नजर में तमिलनाडु चुनाव
विधानसभा कार्यकाल की वैधता- 24 मई
विधानसभा सीटें- 234
मतदान चरण- 1
मतदान की तारीख- 6 अप्रैल
मतगणना- 2 मई

केरल 

केरल में फिलहाल वाम लोकतांत्रिक मोर्चा की सरकार है, जहां उसका मुकाबला कांग्रेस के नेतृत्व वाले संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चे से है। पिछले विधानसभा चुनाव में माकपा को 58 और उसकी सहयोगी भाकपा को 19 सीटों पर जीत मिली थी। कांग्रेस को 22 और आईयूएमएल को 18 सीटों पर जीत मिली थी। बीजेपी के खाते में एक सीट आई थी। बीजेपी यहां अपना प्रभाव बढ़ाने में लगी है। बीते दिनों 'मेट्रोमैन' के तौर पर जाने जाने वाले ई. श्रीधरन ने बीजेपी ज्वाइन करने की घोषणा की थी, जिसे राज्‍य में सियासी तौर पर अहम माना जा रहा है।

केरल में कांग्रेस ने भी धुआंधार प्रचार अभियान चला रखा है। कांग्रेस के नेता व केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी बीते कुछ समय में यहां कई बार दौरा कर चुके हैं।

एक नजर में केरल चुनाव
विधानसभा कार्यकाल की वैधता- 1 जून
विधानसभा सीटें- 140
मतदान चरण- 1
मतदान की तारीख- 6 अप्रैल
मतगणना- 2 मई

पुडुचेरी

पुडुचेरी में 2016 के चुनाव के बाद कांग्रेस-द्रमुक गठबंधन की सरकार बनी थी और वी नारायणसामी मुख्यमंत्री लबने थे। लेकिन हाल ही में विधायकों के इस्तीफे के बाद उनकी सरकार अल्पमत में आ गई, जिसके बाद उन्‍हें सीएम पद से इस्‍तीफा देना पड़ा। यहां गुरुवार (25 फरवरी) को राष्ट्रपति शासन की घोषणा की गई।

एक नजर में पुडुचेरी चुनाव
विधानसभा कार्यकाल की वैधता- यहां राष्‍ट्रपति शासन लागू है
विधानसभा सीटें- 30
मतदान चरण- 1
मतदान की तारीख- 6 अप्रैल
मतगणना- 2 मई

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर