असम-मिजोरम बॉर्डर पर बवाल : ट्विटर पर भिड़े हिमंता-जोरमथंगा, गृह मंत्री से दखल की मांग  

गृह मंत्री अमित शाह इस सप्ताह के अंत में पूर्वोत्तर राज्यों के दौरे पर गए थे। इस दौरान उन्होंने इन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मुलाकात की। इसके बाद असम-मिजोरम सीमा पर विवाद हुआ है।

Assam, Mizoram border crisis : Himanta-Zoramthanga seek Amit Shah's help
असम-मिजोरम के बीच सीमा विवाद।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • असम-मिजोरम सीमा पर दोनों राज्यों के सुरक्षाबलों के बीच टकराव की घटना सामने आई
  • असम और मिजोरम के मुख्यमंत्रियों ने गृह मंत्री अमित शाह से दखल देने की मांग की
  • जोरमथंगा का आरोप है कि असम की पुलिस मिजोरम में दाखिल होकर लाठीचार्ज किया

गुवाहाटी : असम से लगी मिजोरम की सीमा पर टकराव की घटना सामने आने पर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के बीच सोमवार को ट्विटर पर जुबानी जंग शुरू हो गई। विवाद इतना बढ़ गया कि मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा और असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा ने गृह मंत्री अमित शाह से इस मामले में दखल देने की मांग की। बता दें कि इस सप्ताह के अंत में गृह मंत्री अपने दो दिनों की यात्रा पर मेघायल पहुंचे थे और इस दौरान उन्होंने पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बंद कमरे में बैठकें कीं। 

जोरमथंगा ने शेयर किया वीडियो
दरअसल, जोरमथंगा ने अपने ट्विटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया है। इस वीडियो में पुलिस डंडा लिए लोगों के साथ संघर्ष टालने की कोशिश कर रही है। इस ट्वीट के जवाब में असम पुलिस ने कहा कि 'मिजोरम के असमाजिक तत्व पत्थर फेंकने की घटना में संलिप्त हैं और वे जमीन का अतिक्रमण रोकने के लिए ललितपुर में तैनात असम सरकार के अधिकारियों पर हमले कर रहे हैं।'

असम के सीएम ने भी ट्वीट किया वीडियो
इसके बाद असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने भी एक वीडियो शेयर किया। अपने इस पोस्ट में मुख्यमंत्री ने कहा कि मिजोरम का एक पुलिस अधीक्षक असम सरकार के अधिकारियों को अपनी पोस्ट से पीछे हटने के लिए कह रहा है। सरमा ने भी शाह औऱ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से दखल देने की मांग की। सरमा ने पूछा, 'इन परिस्थितियों में हम सरकार कैसे चला सकते हैं?'

जोरमथंगा का असम पुलिस पर आरोप
इसके थोड़ी देर बाद जोरमथंगा ने सरमा को लिखा, 'शाह की अध्यक्षता वाली मुख्यमंत्रियों की बैठक के बाद नागरिकों के साथ असम पुलिस की दो कंपनियों ने आज मिजोरम के भीतर आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। यहां तक कि उन्होंने मिजोरम पुलिस पर अपना दबदबा बना लिया।' एक अन्य ट्वीट में जोरमथंगा ने कहा कि 'ठग और गुंडों ने दुर्व्यवहार किया और चाचर से मिजोरम लौटते समय लोग लूटे गए। इन हिंसक घटनाओं को आप कैसे न्यायोचित ठहराएंगे।' 

औपनिवेशिक समय की देन  सीमा विवाद-मिजोरम के सीएम
गत शनिवार को जोरमथंगा ने कहा कि पूर्वोत्तर में सीमा का विवाद औपनिवेशिक समय की देन है और पूर्वोत्तर के राज्यों में विकास के लिए लोगों के बीच शांति का होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि असम जिन इलाकों पर अपना दावा करता है, उन क्षेत्रों का इस्तेमाल मिजोरम के लोग 100 साल से ज्यादा समय से करते आए हैं।  

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर