Indian Army: आम नागरिकों को भी मिल सकता है सेना ज्‍वाइन करने का मौका, जानें क्‍या है 'टूर ऑफ ड्यूटी' प्रस्‍ताव

Indian Army: जल्‍द ही आम नागरिकों को भी सेना से जुड़ने का मौका मिल सकता है। आम लोगों को 3 साल के लिए 'टूर ऑफ ड्यूटी' के तहत देश सेवा का अवसर मिल सकता है।

आम नागरिकों को भी मिल सकता है सेना ज्‍वाइन करने का मौका, जानें क्‍या है 'टूर ऑफ ड्यूटी' प्रस्‍ताव
आम नागरिकों को भी मिल सकता है सेना ज्‍वाइन करने का मौका, जानें क्‍या है 'टूर ऑफ ड्यूटी' प्रस्‍ताव  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • सेना 'टूर ऑफ ड्यूटी' के तहत आम नागरिकों को भी इससे जुड़ने का मौका देने पर विचार कर रही है
  • इस संबंध में एक प्रस्‍ताव दिया गया है, जिसके तहत लोगों को 3 साल के लिए देश सेवा का मौका मिल सकेगा
  • इसका उद्देश्‍य देश की बेहतरीन प्रतिभा को तलाशना और सेना में काम करने का मौका देना बताया जा रहा है

नई दिल्‍ली : आने वाले समय में आम नागरिकों का भी सेना ज्‍वाइन करने का सपना साकार हो सकता है। सेना ऐसे एक प्रस्ताव पर विचार कर रही है, जिसमें आम लोगों को भी आर्मी रैंक ज्‍वाइन करने के लिए आवेदन करने का मौका दिए जाने की अनुशंसा की गई है। इसके तहत लोग 3 साल तक के लिए सेना में किसी रैंक पर ज्‍वाइन कर सकेंगे, जिसे 'टूर ऑफ ड्यूटी' नाम दिया गया है।

आम लोगों को भी मिल सकेगा अवसर
सैन्‍य सूत्रों के मुताबिक, 'इस तरह के एक प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है, जिसमें आम लोगों को भी तीन साल तक के लिए सेना से जुड़ने और टूर ऑफ ड्यूटी के तहत देश सेवा करने का अवसर मिल सकेगा।' समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, इस प्रस्ताव के बारे में पूछे जाने पर भारतीय सेना के एक प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की।

तीन साल का है 'टूर ऑफ ड्यूटी' प्रोग्राम
इस प्रस्‍ताव को भारतीय सेना के उस प्रयास का हिस्सा बताया जा रहा है, जिसके जरिये देश की बेहतरीन प्रतिभा को तलाशने और सशस्‍त्र बल के लिए काम करने का मौका देने की कोशिश की जा रही है। यह प्रस्‍ताव ऐसे समय में सामने आया है, जबकि पिछले काफी समय से सेना अफसरों की कमी से जूझ रही है। बताया जा रहा है कि देश की उम्‍दा प्रतिभा को आकर्षित करने के लिए ही सेना इस तीन साल के 'टूर ऑफ ड्यूटी' प्रोग्राम को आम लोगों के लिए भी लॉन्‍च करने पर विचार कर रही है।

शॉर्ट सर्विस कमीशन की भी समीक्षा
मौजूदा समय में भारतीय सेना में सबसे कम 10 साल की अवधि के लिए शॉर्ट सर्विस कमीशन के तहत सेवा देने का प्रावधान है। बताया जाता है कि सेना के उच्चाधिकारी शॉर्ट सर्विस कमीशन की भी समीक्षा कर रहे हैं, ताकि इसे युवाओं के लिए और अधिक आकर्षक बनाया जा सके। शॉर्ट सर्विस कमीशन पहले 5 साल की सेवा के लिए शुरू किया गया था, जिसे बाद में अधिक आकर्षक बनाने के लिए 10 साल तक का विस्तार दिया गया।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर