क्या कांग्रेस में बड़े बदलाव की चल रही है तैयारी, मिले कुछ संकेत

बताया जा रहा है कि सोनिया गांधी ही 2024 अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर काम करती रहेंगी।

Sonia Gandhi, Rahul Gandhi, Change in Congress organization, 2019 general election, 2024 general election
सोनिया गांधी, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष 

मुख्य बातें

  • 2019 में कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी ने संभाला था पदभार
  • मई में कांग्रेस संगठन का चुनाव था प्रस्तावित, कोविड की वजह से टाला गया
  • कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने पार्टी में संगठनात्मक चुनाव कराने जाने पर दिया था बल

2019 आम चुनाव में कांग्रेस की पराजय के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। करीब एक साल के बाद कांग्रेस में हार पर मंथन तो हुआ लेकिन पार्टी की कमान कौन संभालेगा उस पर फैसला सिर्फ इतना हुआ कि सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया और पार्टी उनकी छत्रछाया में आगे बढ़ रही है। ये बात अलग है कि कांग्रेस के कुछ कद्दावर नेताओं ने इस मसले को उठाया जिसे आमतौर पर जी-23 की संज्ञा दी गई है। अब सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि कांग्रेस में चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं जिनमें गुलाम नबी आजाद, सचिन पायलट, कुमारी शैलजा और रमेश चेन्निथला का नाम शामिल है। 

सोनिया ही बनी रहेंगी अंतरिम अध्यक्ष
बताया जा रहा है कि 2024 आम चुनाव तक सोनिया गांधी पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी। सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में नियुक्त होने की संभावना नहीं है, लेकिन शीर्ष स्तर पर वो अपनी भूमिका निभाते रहेंगे। सबसे पुरानी पार्टी एक बड़े फेरबदल की योजना बना रही है, जिसमें युवा कांग्रेस नेताओं और गांधी के वफादारों को पार्टी संगठन के भीतर महत्वपूर्ण भूमिका मिलेगी।सूत्रों ने यह भी कहा कि पार्टी से चार कार्यकारी अध्यक्षों की नियुक्ति की उम्मीद है जो महत्वपूर्ण निर्णय लेने में सोनिया गांधी और राहुल गांधी की सहायता करेंगे। कांग्रेस में कार्यकारी अध्यक्ष पद के लिए गुलाम नबी आजाद, सचिन पायलट, कुमारी शैलजा, मुकुल वासनिक और रमेश चेन्नीथला सबसे आगे चल रहे हैं।

2 साल से कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष के हवाले
हालांकि, प्रियंका गांधी वाड्रा की नई भूमिका के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वर्तमान में, कांग्रेस महासचिव उत्तर प्रदेश में पार्टी के मामलों की अनदेखी कर रहे हैं, जहां अगले साल चुनाव होने हैं।सोनिया गांधी को कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण किए दो साल से अधिक का समय हो गया है और तब से सबसे पुरानी पार्टी पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव टाल रही है। इससे पहले, खबरें आ रही थीं कि राहुल गांधी पार्टी में शीर्ष पद संभालने के लिए सहमत होंगे।

मई में कांग्रेस में चुनाव कराने की थी कवायद
मई 2021 में, कांग्रेस ने देश में कोविड स्थिति का हवाला देते हुए पार्टी अध्यक्ष के चुनाव को टाल दिया।सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी पार्टी संगठन को पूरी तरह से बदलना चाहते हैं।जब से राहुल ने 2019 के लोकसभा चुनावों में पार्टी के खराब प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष का पद छोड़ा है, तब से पूर्णकालिक पार्टी प्रमुख की मांग उठ रही है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर