आंध्र प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश का कहर, अब तक 29 की मौत, 50 लापता

Andhra Pradesh Floods: आंध्र प्रदेश के विभिन्न जिलों में भारी बारिश के कारण अब तक 29 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 लोग अब भी लापता हैं। राहत व बचाव कार्य जारी है।

Andhra Pradesh Rains
आंध्र प्रदेश बारिश 
मुख्य बातें
  • तिरूपति शहर में स्थिति अब भी भयावह है और कई इलाके डूबे हुए हैं
  • शनिवार को बारिश कुछ धीमी हुई, लेकिन लोगों को ज्यादा राहत नहीं मिली
  • चार जिलों में कुल 243 राहत शिविर खोले गए हैं

Andhra Pradesh Rains: आंध्र प्रदेश के चार रायलसीमा जिलों में बाढ़ से मरने वालों की संख्या शनिवार को बढ़कर 29 हो गई, जबकि करीब 50 लोग अब भी लापता हैं। अनंतपुर जिले में एक घर ढहने से छह लोगों की मौत हो गई, जबकि चित्तूर से छह और लोगों की मौत हो गई। शुक्रवार को चार प्रभावित जिलों में 17 लोगों की मौत हुई थी, जिनमें से 12 मौतें कडप्पा से हुई थीं। मरने वालों की संख्या बढ़ने की संभावना है क्योंकि बाढ़ में बह गए लोगों के बारे में कोई स्पष्टता नहीं है।

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से भारी बारिश के कारण नदियों और जल परियोजनाओं में बाढ़ आ गई, जिससे पिछले 72 घंटों में चित्तूर, कडप्पा, अनंतपुर और नेल्लोर में अचानक बाढ़ आ गई। कई गांवों की सड़कें पानी के तेज बहाव के कारण धराशायी हो गई हैं।

सरकार ने एक विज्ञप्ति में कहा कि भारतीय वायु सेना, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ), पुलिस और दमकल के कर्मियों ने अनंतपुरामु, कडप्पा और चित्तूर जिलों में आई भीषण बाढ़ से एक पुलिस निरीक्षक सहित कम से कम 64 लोगों को बचाया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को बाढ़ का पानी उतरते ही फसल के नुकसान का आंकलन करने को कहा है। सरकार ने बाढ़ में मरने वाले प्रत्येक व्यक्ति के परिजन को पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। तिरुपति शहर में स्थिति अभी भी गंभीर बनी हुई है। शहर के कई इलाकों में पानी भर गया है। तिरुमला पहाड़ियों पर स्थिति कुछ बेहतर है, हालांकि बारिश की वजह से तीर्थयात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ा। 

विजयवाड़ा मंडल के नेल्लोर-पादुगुपाडु खंड में रेलवे लाइन पर पानी भर जाने के कारण शनिवार और रविवार को कम से कम 10 एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। राज्य सरकार ने कहा कि पांच करोड़ रुपए से अधिक मूल्य के 1,549 मकान क्षतिग्रस्त हो गए, जबकि अन्य 488 मकान जलमग्न हो गए।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर