खुलासा: 'वीडियो दिखा दूंगा तो पैरों तले जमीन खिसक जाएगी', आनंद गिरी ने फोन पर दी थी नरेंद्र गिरी को धमकी

Narendra Giri Case: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष आचार्य नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में एक और खुलासा हुआ है। इससे यह साबित होता है कि नरेंद्र गिरी को उनके शिष्य आनंद गिरी द्वारा ब्लैकमेल किया जा रहा था।

Anand Giri Threatened Narendra Giri On The Phone- If I Show The Video, The Ground Will Slip Under My Feet
खुलासा: 'वीडियो दिखा दूंगा तो पैरों तले जमीन खिसक जाएगी' 
मुख्य बातें
  • आनंद गिरि ने दी थी महंत नरेंद्र गिरि को धमकी- वीडियो दिखा दूंगा तो पैरों तले जमीन खिसक जाएगी
  • सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर किया सनसनीखेज खुलासा
  • अपने शिष्य आनंद गिरि इस धमकी के बाद से काफी परेशान चल रहे थे नरेंद्र गिरी

नई दिल्ली: अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि (Narendra Giri) की मौत के मामले में एक ऑडियो और वीडियो का खूब जिक्र हुआ था। खुद नरेंद्र गिरी ने अपने कथित  सुसाइड नोट में इसका जिक्र करते हुए अपने शिष्य आनंद गिरी पर गंभीर आरोप लगाए थे। नरेंद्र गिरी की मौत की जांच कर रही सीबीआई की चार्जशीट में एक अहम खुलासा हुआ है जिसमें कहा गया है कि आनंद गिरी (Anand Giri) ने नरेंद्र गिरी को फोन पर धमकी थी। यह धमकी मई 2021 में दी गई थी।

चार्जशीट में हुआ खुलासा

एनबीटी की खबर के मुताबिक आनंद गिरी ने नरेंद्र गिरी को धमकी देते हुए कहा था कि  उसके पास एक ऐसा वीडियो है, जिसे देखकर उनके पैरों तले जमीन खिसक जाएगी। सीबीआई ने ये धमकी वाला ऑडियो रिकवर कर लिया है। इस धमकी के बाद से ही नरेंद्र गिरी बेहद परेशान चल रहे थे। सीबीआई टीम ने सीजेएम कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में इसका खुलासा किया है। यह ऑडियो सीबीआई के पास में है।

आनंद गिरी कर रहा था ब्लैकमेल

नरेंद्र गिरी ने मौत से एक दिन पहले आनंद गिरी की ब्लैकमेलिंग वाली करतूत और आपत्तिजनक वीडियो के बारे में वाराणसी के महंत संतोष दास उर्फ सतुआ बाबा को बताया था। उन्होंने कहा था कि आनंद गिरी ने कंप्यूटर के जरिए किसी महिला के साथ उसका वीडियो बना लिया है और अब वह उसे वायरल करने की धमकी दे रहा है। बाद में आचार्य नरेंद्र गिरि, को उनके शिष्यों ने 20 सितंबर को इलाहाबाद के बाघंबरी मठ में फांसी पर लटका पाया था।

मिला था सुसाइड नोट

 उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद की एक सीजेएम कोर्ट में दाखिल आरोप पत्र में सीबीआई ने आनंद गिरि, इलाहाबाद के बड़े हनुमान मंदिर के पुजारी आध्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी के खिलाफ आपराधिक षड्यंत्र रचने और आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि तीनों आरोपी वर्तमान में न्यायिक हिरासत में हैं। पुलिस ने कहा था कि नरेंद्र गिरी का एक कथित ‘सुसाइड नोट’ मिला, जिसमें महंत ने लिखा था कि वह मानसिक रूप से परेशान थे और अपने एक शिष्य से नाराज थे। केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश पर घटना के कुछ दिनों के भीतर ही मामला सीबीआई को सौंप दिया था।


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर