Cyclone Amphan: चक्रवात अम्फान पर मौसम विभाग की चेतावनी, उत्तर भारत में हो सकती है बारिश

Amphan Cyclone Hindi News: मौसम विभाग ने कम दवाब वाले क्षेत्र के कारण अम्फान चक्रवात और उत्तर भारत में बारिश की संभावना की ओर इशारा किया है।

Meteorological Department warns on cyclone Amphan, It may rain in North India
चक्रवात पर मौसम विभाग की चेतावनी (प्रतीकात्मक तस्वीर) 

मुख्य बातें

  • अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी के ऊपर बन रहा कम दवाब वाला क्षेत्र
  • अम्फान चक्रवात को लेकर मौसम विभाग ने की है भविष्यवाणी
  • उत्तर भारत में हो सकती है बारिश, मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की सलाह

नई दिल्ली: दक्षिण अंडमान सागर और बंगाल की खाड़ी के ऊपर बने कम दबाव वाले क्षेत्र के अगले 72 घंटों तक जारी रहने की संभावना है और इसे देखते हुए मौसम विभाग (आईएमडी) की ओर से संभावित खतरे के बारे में भविष्यवाणी की है और 'अम्फान' चक्रवात के प्रति आगाह किया है। उत्तर भारतीय राज्यों में 3-6 मई के बीच बारिश की संभावना भी जताई जा रही है।

अरब सागर और बंगाल की खाड़ी के कुछ हिस्सों में निम्न दबाव का क्षेत्र (LOPAR) जारी है, एक वैश्विक मौसम विज्ञान निकाय ने 7 मई के बाद भारत के पूर्वी तटीय क्षेत्र में 'सुपर साइक्लोन तूफान' की चेतावनी दी है।

निम्न दबाव वाला क्षेत्र चक्रवाती तूफान में तब्दील होने के बाद आंध्र प्रदेश के उत्तर में सबसे पहले ओडिशा के दक्षिण की ओर चलेगा, यूरोपियन सेंटर फॉर मीडियम रेंज वेदर फोरकास्ट (ECMWF) से प्राप्त इनपुट के आधार पर यह बात कही जा रही है। चक्रवाती गतिविधि बाद में विक्षेपित हो जाएगी। भारतीय तटरेखा और अम्फान 13 मई के बाद म्यांमार में लैंडफॉल बना सकते हैं।

स्काईमेट ने क्या कहा? अग्रणी निजी मौसम एजेंसियों में से एक स्काईमेट वेदर ने बंगाल के दक्षिण-पूर्व की खाड़ी और दक्षिण अंडमान सागर में LOPAR की स्थिति पर गहरी नज़र बना रखी है। 3 मई को जारी एक अपडेट में, एजेंसी ने कहा कि कम से कम 7 मई तक कम दबाव की स्थिति में बदलाव नहीं होगा।

स्काईमेट ने अपने एक अपडेट में कहा, 'निम्न दबाव के क्षेत्र में ऊपर की ओर बहने वाली हवाओं में मामूली वृद्धि हुई है। समुद्र की सतह का तापमान पर्याप्त रूप से गर्म होना जारी है। इन स्थितियों के तहत, अगले 72 घंटों में कोई बड़े बदलाव की उम्मीद नहीं है। हालांकि, इसमें बदलाव की संभावना हो सकती है।'

ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों में मछुआरों को सावधानी बरतने और समुद्र में जाने से बचने के लिए कहा जा रहा है। आईएमडी द्वारा जारी अंतिम चेतावनी ने उन्हें 1-3 मई के बीच मछली पकड़ने की गतिविधियों के लिए नहीं जाने के लिए कहा गया है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर