एयर इंडिया की ये चार महिला पायलट रचने जा रही हैं इतिहास, नॉर्थ पोल के ऊपर से भरी उड़ान

देश
किशोर जोशी
Updated Jan 10, 2021 | 12:16 IST

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को ऑल-वुमन कॉकपिट क्रू वाली सैन फ्रांसिस्को-बेंगलुरु फ्लाइट का उद्घाटन किया।

All-women cockpit crew of Air India flies high around the world through San Francisco-Bengaluru flight
इतिहास रचने को तैयार हैं एय़र इंडिया की तीन महिला पायलट 

मुख्य बातें

  • Air india की महिला चालक दल ने रचा इतिहास, दुनिया की सबसे लम्बी फ्लाइट का किया संचालन
  • कॉकपिट में कैप्टन जोया के साथ कैप्टन थनमई पपागड़ी, कैप्टन आकांशा सोनावड़े और कैप्टन शिवानी मन्हास शामिल
  • अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को से बेंगलुरु के लिए भरी उड़ान

नई दिल्ली: एयर इंडिया की महिला पायलटों की टीम (Women cockpit crew)ने इतिहास रचने को तैयार हैं।  एयर इंडिया की एक फ्लाइट जिसमें सिर्फ महिला चालक दल के सदस्य हैं उन्होंने शनिवार को सैन फ्रांसिस्को से पहली फ्लाइट लेकर बेंगलुरु के लिए उड़ान भरी। नॉर्थ पोल के ऊपर से उड़ान भरने से पहले चारों पायलट काफी रोमांचित थीं। इस रूट को दुनिया के दो विपरीत बिंदुओं को जोड़ने के लिए संभव सबसे तेज रूट माना जाता है और दुनिया की सबसे लंबी उड़ानों में से इसे एक माना जाता है।

हरदीप पुरी ने किया ट्वीट

नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट करते हुए कहा, 'एयर इंडिया की महिला शक्ति दुनिया भर में ऊंची उड़ान भर कर अपना परचम लहरा रही हैं। कैप्टन जोया अग्रवाल, कैप्टन पपागरी थनमई, कैप्टन आकांशा सोनवरे और कैप्टन शिवानी मन्हास (सभी महिला कॉकपिट क्रू) मिलकर बेंगलुरु और सैन फ्रांसिस्को के बीच ऐतिहासिक उद्घाटन उड़ान का संचालन करेंगी।' दरअसल नॉर्थ पोल के ऊपर से उड़ान भरना हमेशा से ही चैलेंजिंग रहा है।

सबसे लंबी उड़ान
एयर इंडिया ने बयान जारी करते हुए कहा, 'यह एयर इंडिया या भारत में किसी अन्य एयरलाइन द्वारा संचालित होने वाली दुनिया की सबसे लंबी वाणिज्यिक उड़ान होगी… इस मार्ग पर कुल उड़ान का समय उस विशेष हवा की गति के आधार पर 17 घंटे से अधिक होगा।'

एयर इंडिया के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों शहरों के बीच की सीधी दूरी 13,993 किमी है। कैप्टन जोया अग्रवाल जो इस फ्लाइट को कमांड कर रही है, उन्होंने बताया कि वह इस ऐतिहासिक लम्हे का बेसब्री से इंतजार कर रही है।

सपना सच होने जैसा

एएनआई से बात करते हुए कैप्टन जोया ने कहा, 'अधिकतर लोग पूरी जिंदगी में नॉर्थ पोल नहीं देख पाते हैं, यहां तक कि उसका नक्शा भी नहीं देख पाते। मैं खुश हूं क्योंकि सिविल एविएशन मिनिस्टर और हमारे फ्लैग कैरियर ने हम पर विश्वास जताया। बोईंग 777 को कमांड करना एक स्वर्णिम अवसर है। मुझे इस बात का बहुत गर्व है कि मेरे पास अनुभवी महिलाओं की टीम है, जिसमें कैप्टन पपागरी थनमाइ , कैप्टन अकांक्षा सोनावने और कैप्टन शिवानी मन्हास शामिल हैं। दुनिया में ऐसा पहली बार होगा जब नॉर्थ पोल के ऊपर से ऐसी उड़ान होगी, जिसमें सभी पायलट महिलाएं होंगी। ये असल में किसी भी पेशेवर पायलट के सपने के सच होने जैसा है।' 

जोया बताती, 'मैं बोईंग 777 की दुनियां में सबसे युवा महिला कमांडर हूं। महिलाओं को स्वयं पर विश्वास करना चाहिए। '

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर