AIIMS के गार्ड को टीका लगने के बाद हुई एलर्जी, बढ़ गई दिल की धड़कन, दिल्‍ली में AEFI के 52 केस

देश
Updated Jan 17, 2021 | 00:13 IST | एजेंसी

Corona vaccination side effects: एम्स में एक गार्ड को आज कोविड-19 का टीका लगाया गया था। उसे टीका लगाए जाने के 15-20 मिनट बाद ही उसकी धड़कन बढ़ गई और उसे एलर्जी भी हुई है।

AIIMS के गार्ड को टीका लगने के बाद हुई एलर्जी, बढ़ गई दिल की धड़कन, दिल्‍ली में AEFI के 52 केस
AIIMS के गार्ड को टीका लगने के बाद हुई एलर्जी, बढ़ गई दिल की धड़कन, दिल्‍ली में AEFI के 52 केस  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

नई दिल्ली : राष्ट्रीय राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शनिवार को एक गार्ड को कोवैक्सीन टीके की पहली खुराक लगाए जाने के बाद एलर्जी हो गई जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया के अनुसार शाम चार बजे के बाद इस सुरक्षा गार्ड को टीका लगाया गया और उसके 15-20 मिनट बाद उसकी धड़कन बढ़ गई तथा उसके शरीर पर चकत्ते हो गए जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती किया गया।

गुलेरिया ने कहा, 'उसका तत्काल उपयुक्त उपचार किया गया और उसकी स्थिति सुधरी। अब उसकी स्थिति स्थिर है। एहतियात के तौर पर उसे रातभर के लिए चिकित्सकीय निगरानी में रखा गया है और उसकी स्थिति पर नजर रखी जा रही है। उसे सुबह में छुट्टी दिए जाने की संभावना है।' दिल्‍ली एम्‍स में आज 95 स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को कोविड-19 का टीका लगाया गया।

दिल्‍ली में प्रतिकूल प्रभाव के 52 मामले

इस बीच आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, कोविड-19 टीकाकरण अभियान के पहले दिन शनिवार को दिल्ली में जिन स्वास्थ्यकर्मियों को कोरोना वायरस का टीका लगाया गया, उनमें एईएफआई (टीकाकरण के बाद प्रतिकूल प्रभाव) का एक 'गंभीर' और 51 'मामूली' मामले सामने आए। सरकारी आंकड़ों के अनुसार दिल्ली के 11 जिलों में टीकाकरण अभियान के पहले दिन 8,117 स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाने का लक्ष्य था, जिनमें कुल 4,319 लोगों को टीका लगाया गया।

अधिकारियों ने कहा कि जिन लोगों को टीका लगाया गया, उनमें से कुछ में एईएफआई के मामले आए। सरकार के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, 'एईएफआई के कुछ मामले आए, लेकिन अधिकतर मामूली थे। निगरानी के दौरान ये लोग सामान्य हो गए। एईएफआई का केवल एक गंभीर मामला दक्षिणी दिल्ली में सामने आया।'

अन्‍य राज्‍यों से भी सामने आए AEFI केस

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार टीकाकरण के बाद प्रतिकूल चिकित्सा प्रभाव के मामले को एईएफआई की श्रेणी में रखा जाता है, जिसका टीके के इस्तेमाल से संबंध होना जरूरी नहीं है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार दक्षिणी और दक्षिण पश्चिमी जिलों से एईएफआई के 11 'मामूली' मामले आए। अधिकारियों के अनुसार एईएफआई के 'मामूली' मामले उत्तर पूर्वी और शाहदरा जिलों को छोड़कर बाकी सभी जिलों से आए। दिल्ली में शनिवार को 81 केंद्रों पर टीकाकरण अभियान चलाया गया।

AEFI यानी Adverse Event Following Immunization के 11 मामूली केस तेलंगाना से भी सामने आए हैं। यहां 3,962 लाभार्थियों को आज कोविड वैक्‍सीन दिया गया। पश्चिम बंगाल से ऐसे 14 मामले सामने आए हैं। यहां आज 15,707 लाभार्थियों का टीकाकरण हुआ।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर