जानिए कूचबिहार गोली कांड का सच वहां के एसपी की जुबानी, कैसे CISF जवानों की राइफल छीनने की हुई कोशिश

देश
किशोर जोशी
Updated Apr 10, 2021 | 16:05 IST

पश्चिम बंगाल में चौथे चरण की वोटिंग के दौरान जमकर हिंसा हुई है जिसमें चार लोगों की जान चले गई है।  इस लेकर बीजेपी और टीएमसी ने एक दूसरे पर हमला बोला है।

4 dead as CISF opens fire outside booth in Cooch Behar EC seeks report as violence
जानिए कूचबिहार गोली कांड का सच वहां के एसपी की जुबानी 
मुख्य बातें
  • कूचबिहार गोली कांड: करीब 350 लोगों ने सुरक्षाबलों पर हमला किया
  • स्थानीय एसपी बोले- बूथ में घुसने की कोशिश की, उसके बाद फायरिंग की गई

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के तहत हो रहे मतदान में आज जमकर हिंसा हुई। राज्य के कूचबिहार जिले में हुई इस हिंसा में केन्द्रीय पुलिस बल ने कथित तौर पर गोलियां चलाईं, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई। ऐसा आरोप है कि स्थानीय लोगों ने बल के जवानों की राइफलें छीनने की कोशिश की। इस मामले में कूचबिहार के एसपी ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि किस कदर एक अफवाह की वजह से इतनी बड़ी हिंसा भड़क गई।

फैली अफवाह

इस मामले में कूच बिहार के एसपी ने बयान देते हुए कहा, 'जो घटना हुआ वो मोटामोटी साढ़े 9 बजे तक ठीक ठाक था उसके बाद एक आदमी बेहोश हो गया क्योंकि उसका तबियत खराब था।उसका ट्रीटमेंट चल रहा था बूथ के सामने और दो तीन आदमी साथ में थे। उसी समय रयूमर फैल गया और वहां मौजूद सीआईएसएफ के सुरक्षाबलों ने पूछा इसे क्या हो गया है? तो गांव वालों में रयूमर फैल गया कि सुरक्षाबलों ने इसे मारापीटा है। गांव से आकर 300-360 आदमी उसके उस पर अटैक किए थे।' 

हैडमेड हथियारों के किया हमला

एसपी ने कहा 'बहुत सारे हैंडमेड हथियारों द्वारा हमला किया गया जो महिलाएं यूज करते हैं। सुरक्षाबलों की राइफल छीनने की कोशिश की गई। बहुत सारा घटना हुआ। उसके बाद जो सुरक्षाबल सीआईएसएफ के थे, उन्होंने पास में मौजूद में अपनी टीम को बुलाया। इन लोगों ने सीआईएसएफ से जमकर मारपीट की। उसके बाद जब सीआईएसएफ जवान की राइफल छीनने की कोशिश की गई और बूथ में घुसने का प्रयास किया गया तब ये घटना और सीआईएसएफ फायरिंग चालू किया।अभी तक चार लोगों की मौत की खबर है।'

निर्वाचन आयोग ने हिंसा की खबरों के बीच पश्चिम बंगाल के सीतलकूची विधानसभा क्षेत्र में मतदान केंद्र संख्या 126 में मतदान स्थगित करने का शनिवार को आदेश दिया। आयोग के एक प्रवक्ता ने बताया कि विशेष पर्यवेक्षकों की अंतरिम रिपोर्ट के आधार पर यह फैसला किया गया है। विशेष पर्यवेक्षकों और राज्य मुख्य निर्वाचन अधिकारी से शाम पांच बजे तक विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा गया है।

पीएम मोदी ने किया हमला

इस हमले को लेकर राजनीति भी तेज हो गई है। पीएम मोदी ने एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भ्रष्टाचार सहित अन्य मुद्दों पर आड़े हाथों लेते उन पर लोगों को केंद्रीय सुरक्षाबलों के खिलाफ उकसाने और चुनाव प्रक्रिया में रोड़े अटकाने का आरोप भी लगाया। मोदी ने कहा, ‘भाजपा के पक्ष में जन समर्थन देखकर ‘दीदी’ और उनके गुंडों में बौखलाहट हो रही है। अपनी कुर्सी जाते देख दीदी इस स्तर पर उतर आई हैं, लेकिन मैं दीदी को, टीएमसी को और उनके गुंडों को साफ-साफ कह देना चाहता हूं कि अब उनकी मनमानी बंगाल में नहीं चलने दी जाएगी।’

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर