Ghaziabad Development News: लोनी के इन दोनों इलाकों में बिछेगी सीवर लाइन, सरकार करेगी 64 करोड़ रुपये खर्च

Ghaziabad Development News: गाजियाबाद के लोनी में जल्द ही डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी में सीवर लाइन बिछाई जाएंगी। सैद्धांतिक मंजूरी मिलने के बाद जल निगम इन दोनों कॉलोनियों में सीवर लाइन बिछाने और पंपिंग स्टेशन बनाने की परियोजना पर काम करना शुरू कर देगा।

Ghaziabad News
लोनी के डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी में बिछेगी सीवर लाइन (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी में सीवर लाइन बिछाई जाएंगी
  • जल निगम की ओर 64 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे
  • सीवर लाइन बिछाने और पंपिंग स्टेशन बनाने की परियोजना

Ghaziabad Development News: गाजियाबाद के लोनी में जल्द ही डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी में सीवर लाइन बिछाई जाएंगी। जिसके बाद सीवर का गंदा पानी यमुना में नहीं जा सकेगा। डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी में सीवर लाइन बिछाने के लिए नगर निगम की ओर से 64 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसको लेकर सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है, जिसकी सैद्धांतिक मंजूरी मिलने के बाद निगम इन दोनों कॉलोनियों में सीवर लाइन बिछाने और पंपिंग स्टेशन बनाने की परियोजना पर काम करना शुरू कर देगा।

इस परियोजना की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) स्टेट लेवल टेक्निकल कमेटी (एसएलटीसी) को भेजी जा चुकी है। परियोजना के जरिए डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी के करीब सात हजार घरों को सीवर लाइन से जोड़ा जाएगा। 

परियोजना का निर्माण अमृत 2.0 के तहत

इस परियोजना का निर्माण अमृत 2.0 के तहत किया जाएगा। इस बात की जानकारी नगर निगम के अधिकारियों ने दी है। अधिकारियों ने बताया है कि उन्होंने परियोजना के प्रारूप पर चर्चा की और निर्माण शुरू होने से पहले की औपचारिकताओं पर काम करना शुरू कर दिया है। डीएलएफ और अंकुर विहार कॉलोनी में 57 किलोमीटर लंबी सीवर लाइन का नेटवर्क तैयार किया जाएगा। हालांकि इस परियोजना के तहत एसटीपी (सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट) नहीं बनाया जाएगा, क्योंकि 30 एमएलडी क्षमता का लोनी में एसटीपी पहले से मौजूद है।

2024 तक इस परियोजना को पूरा कर लिया जाएगा

केवल 9 एमएलडी (मिलियन लीटर प्रतिदिन) क्षमता वाला एमपीएस (मास्टर पंपिंग स्टेशन) बनाया जाएगा। दोनों कॉलोनियों का सीवरेज इस पंपिंग स्टेशन पर पहुंचेगा। इसके बाद पंप के जरिए एसटीपी तक जा रही ट्रंक लाइन में डाला जाएगा। नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार लोनी में जो 30 एमएलडी क्षमता का एसटीपी मौजूद है उसमें फिलहाल करीब 22 एमएलडी सीवरेज पहुंच रहा है। ऐसे में इसके अंदर आठ एमएलडी सीवरेज अभी और शोधित किया जा सकता है। ऐसे में फिलहाल नया एसटीपी बनाने की जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि 2024 तक इस परियोजना को पूरा कर लिया जाएगा।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर