Ghaziabad Fire: गाजियाबाद स्थित साबुन फैक्ट्री में लगी भीषण आग, बुलानी पड़ी तीन जिलों से दमकल की 36 गाड़ियां

Ghaziabad Fire: गाजियाबाद के औद्योगिक क्षेत्र में स्थित एक साबुन बनाने वाली फैक्ट्री में शनिवार देर रात भीषण आग लग गई। आग की लपेटे फै‍क्‍ट्री के अंदर रखे साबुन और केमिकल से भरे ड्रम तक पहुंच गई है, जिसे ये ड्रम हवा में उड़कर तेज धमाके के साथ फटते रहे। आग पर काबू पाने के लिए तीन जिलों से दमकल की करीब 35 गाड़ियां बुलानी पड़ी। फिलहाल आग को बुझा दिया गया है और अब आग लगने के कारणों की जांच हो रही है।

Fire accident
गाजियाबाद की साबुन फैक्‍ट्री में लगी भीषण आग   |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • भीषण आग से साबुन और केमिकल की दो फैक्ट्रियां हुई जल कर राख
  • आग बुझाने के लिए तीन जिलों की 36 गाड़ियों ने की कई घंटे मशक्‍कत
  • आग के दौरान केमिकल से भरे ड्रम हवा में उड़कर धमाके के साथ फटते रहे

Ghaziabad Fire: गाजियाबाद में शनिवार देर रात बुलंदशहर रोड औद्योगिक क्षेत्र में स्थित एक साबुन बनाने वाली फैक्ट्री में भीषण आग लग गई। आग की लपेटे फै‍क्‍ट्री के अंदर रखे साबुन और केमिकल से भरे ड्रम तक पहुंच गई है, जिसे ये ड्रम हवा में उड़कर तेज धमाके के साथ फटते रहे। आग की लपटें दूर तक देखी गईं। इस पर काबू पाने के लिए तीन जिलों से दमकल की करीब 35 गाड़ियां बुलानी पड़ी, जिसके बाद कई घंटों की मशक्‍कत से सुबह आग पर काबू पाया जा सका। इस आग में भारी आर्थिक नुकासन बताया जा रहा है, हालांकि आग से किसी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ है।

बताया जा रहा है कि यह आग देर रात लगी और कुछ ही देर में पूरी फैक्‍ट्री को अपनी चपेट में ले लिया। आग लगने की सूचना मिलते ही मौके पर गाजियाबाद दमकल विभाग की सभी गाड़ियां पहुंची, लेकिन आग की भयावहा स्थिति को देखते हुए दूसरे जिलों से भी दमकल की गाड़ियां बुलानी पड़ी। दमकल विभाग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक अग्निकांड में किसी के भी हताहत होने की खबर नहीं है। आग पर वक्त रहते काबू पा लिया गया है।

हापुड़ और नोएडा से बुलानी पड़ी दमकल की गाड़ियां

गाजियाबाद के मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि, हमें देर रात करीब 12 बजे आग की सूचना मिली। हमें बताया गया कि बुलंदशहर रोड स्थित इंडस्ट्रियल एरिया के प्लॉट नंबर 17 और 18 में भीषण आग लगी है। जिसके बाद जिले की सभी गाड़ियों को घटनास्‍थल के लिए रवाना कर दिया गया। वहां पहुंचने पर पता चला कि आग बेहद विकराल थी, इसलिए तत्काल गाजियाबाद समेत हापुड़ और नोएडा के फायर स्टेशनों से भी गाड़ियां मंगवानी शुरू की गईं। सुनील कुमार ने बताया कि फायर फाइटर्स आग को सिर्फ एक तरफ से बुझा पा रहे थे। उसकी वजह यह थी कि दोनों फैक्ट्रियों के बराबर में अन्य फैक्ट्रियां भी थीं। इसलिए उन्हें भी आग की चपेट में आने से रोकना एक बड़ा टास्क था। हमने कड़ी मशक्‍कत के बाद इस आग के फैलाव को कंट्रोल कर लिया और इन दो फैक्ट्रियों के अलावा आग को किसी दूसरी फैक्‍ट्री तक नहीं पहुंचने दिया। सुनील कुमार ने बताया कि अभी तक आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर