Ghaziabad News: कुवैत में नौकरी दिलाने के नाम पर सैकड़ों बेरोजगारों से ठगी, आरोपी फरार, पुलिस ने शुरू की जांच

Ghaziabad News: गाजियाबाद में सैकड़ों युवाओं के साथ विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी की गई है। आरोपियों ने कुवैत में नौकरी दिलाने के नाम पर 25-25 हजार रुपये और सभी का पासपोर्ट लेकर फरार हो गए। एसएसपी के निर्देश पर मामला दर्ज कर जांच शुरू हो गई है।

Ghaziabad Police
ऑफिस में जन सुनवाई करते एसएसपी मुनिराज   |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • कुवैत में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवकों से करोड़ों रुपये की ठगी
  • आरोपी युवाओं से 25 हजार रुपये और उनका पासपोर्ट लेकर हुए फरार
  • युवाओं को दिया था 15 जून को कुवैत ले जाने का झांसा, ऑफिस मिला बंद

Ghaziabad News: विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर गाजियाबाद के सैकड़ो बेराजगार युवाओं के साथ ठगी का मामला सामने आया है। युवाओं को कुवैत में नौकरी लगवाने का झांसा देकर करोड़ों रुपये की ठगी की गई। ठगी के बाद ये जालसाज पीड़ित युवाओं के पासपोर्ट भी लेकर फरार हो गए। पीड़ित युवाओं ने इस मामले में अब एसएसपी गाजियाबाद मुनिराज से शिकायत की है। ठगी का मामल संज्ञान में आने के बाद एसएसपी ने घंटाघर कोतवाली पुलिस को इस मामले में एफआईआर दर्ज जल्‍द से जल्‍द आरोपियों को गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है। मामले में जांच की जिम्‍मेदारी साइबर सेल को दी गई है।

इस मामले में एसएसपी मुनिराज ने कहा कि, जन सुनवाई में कुछ लोग ठगी की शिकायत लेकर आए थे। उनकी शिकायत सुनने के बाद पता चला कि, कुछ लोगों ने युवाओं को विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगा है। इस संबंध में मैंने एसएचओ और सर्कल ऑफिसर कोतवाली को मामले में जांच करने का आदेश दे दिया है। इसके साथ साइबर सेल को भी इस मामले में जांच करने के लिए कहा गया है। जल्‍द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आरोपियों ने युवकों से लिए 25-25 हजार रुपये

एसएसपी के जन सुनवाई में शिकायत लेकर पहुंचे पीड़ित मुकेश कुमार ने बताया कि, इंटरनेट मीडिया के जरिए उन्हें कुवैत के नौकरी के संबंध में जानकारी मिली थी। जिसमें बताया गया था कि, वे कुवैत में प्रतिमाह 50 हजार रुपये की नौकरी दिला देंगे। इसके लिए जालसाजों ने मुकेश कुमार से 25 हजार रुपये लिए। इसी तरह करीब 100 से 150 युवाओं को नौकरी दिलाने का झांसा देकर 25 हजार रुपये से लेकर एक लाख रुपये तक की ठगी की गई। आरोपियों ने युवाओं को भरोसा दिलाया था वे 15 जून को हैदाराबाद होते हुए कुवैत ले जाएंगे। इसके लिए आरोपियों ने सभी का पासपोर्ट भी जमा करा रखा था। बुधवार को उक्त कंपनी के प्रबंधक का मोबाइल नंबर बंद आया। जिसके बाद युवा कंपनी के अंबेडकर रोड स्थित दफ्तर पहुंचने लगे। यहां पर ऑफिस भी बंद मिला। इसके बाद सभी पीड़ितों ने गुरूवार को एसएसपी कार्यालय पहुंचकर इस मामले की शिकायत दर्ज कराई।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर