Ghaziabad Administration: शहर में अब महिलाओं को मिलगी पूरी सुरक्षा, सेफ सिटी योजना में शामिल हुआ गाजियाबाद

Ghaziabad Administration: गाजियाबाद को केंद्र सरकार की सेफ सिटी योजना में शामिल किया गया है। अब यहां पर सुरक्षा की जिम्मेदारी महिला पुलिस कर्मियों के ऊपर रहेगी। इस योजना के तहत कई ऐसे कार्य किए जाएंगे, जिससे महिलाओं की सुरक्षा व्‍यवस्‍था पुख्‍ता हो सके।

Ghaziabad Administration
अधिकारियों के साथ बैठक करते जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • गाजियाबाद में अब महिला पुलिस कर्मी संभालेंगी सुरक्षा व्‍यवस्‍था
  • गाजियाबाद शामिल हुआ केंद्र सरकार के सेफ सिटी योजना में
  • महिलाओं की सुरक्षा व्‍यवस्‍था के लिए बनाई जा रही कई योजनाएं

Ghaziabad Administration: गाजियाबाद में अब घर के बाहर महिलाओं को पूरी सुरक्षा मिलेगी। इनकी सुरक्षा का ध्‍यान जिला पुलिस व प्रशासन रखेगा। इसके लिए गाजियाबाद को शासन की तरफ से सेफ सिटी योजना में शामिल किया गया। यह योजना विचार-विमर्श के लिए जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट के अंदर एक बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें जिलाधिकारी ने बताया कि केंद्र सरकार की सेफ सिटी योजना में राज्‍य के 17 जिलों को शामिल किया गया है। इस लिस्‍ट में गाजियाबाद भी है।

योजना के बारे में जानकारी देते हुए जिलाधिकारी ने बताया कि सेफ सिटी में महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी महिला पुलिस कर्मियों के ऊपर रहेगी। इन सुरक्षाकर्मियों के पास पिंक स्कूटी और एसयूवी वाहन होंगे, जिसपर घूमते हुए वे पूरे शहर पर नजर रखेंगी। इसके अलावा शहर में महिलाओं के लिए पिंक टायलेट भी बनेंगे। वहीं शहर के ऐसे इलाकों को भी चिह्नित किया जाएगा, जहां पर अंधेरे के अंदर महिलाओं का ज्‍यादा आवागमन रहता है। प्रशासन की तरफ से अब तक ऐसे 284 स्थानों को चिह्नित भी कर लिया गया है। अब यहां पर उचित प्रकाश व्यवस्था करने की तैयारी चल रही है।

शहर में हर दो किलोमीटर पर बनेगा महिला पुलिस कियास्क

इस योजना के तहत शहर के अंदर चलने वाली सभी बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। इसके अलावा शहर के अंदर हर दो किलोमीटर पर एक महिला पुलिस कियास्क भी बनाया जाएगा। जिसमें सिर्फ महिला पुलिस कर्मी ही तैनात रहेंगी। महिलाएं इनके साथ खुल कर अपनी सुरक्षा पर बात कर सकेंगी। इन महिला सुरक्षा कर्मियों के साथ एक अधिकारी स्‍तर का पुलिसकर्मी भी होगा। अधिकारियों के अनुसार इन महिला कर्मियों को लाने ले जाने के लिए बस और एसयूवी की व्‍यवस्‍था की जाएगी। इसके अलावा प्रशासन द्वारा ऐसी जगहों की भी पहचान की जा रही है, जहां पर महिलाओं के साथ लूटपाट या छेडखानी जैसी घटनाएं होती हैं। वहीं शहर के अंदर मौजूद गर्ल्‍स स्‍कूल व कॉलेजों के बाहर भी इन महिला सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया जाएगा। प्रशासन द्वारा यह सभी तैयारियां इसी माह पूरी कर ली जाएंगी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर