Ghaziabad: सब जिसे सुसाइड समझ रहे थे वो निकला मर्डर, छह माह की जांच के बाद क्राइम ब्रांच ने ऐसे पकड़े गुनहगार

Ghaziabad News: शास्‍त्री नगर में एक कोचिंग सेंटर संचालक की फरवरी माह में हुई मौत मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। क्राइम ब्रांच द्वारा करीब छह माह तक की गई जांच के बाद पता चला कि कार क्षतिग्रस्‍त होने पर हर्जाना देने के विवाद में दो भाइयों ने व्‍यक्ति को छत से नीचें फेंक दिया था।

Ghaziabad Police
कोचिंग सेंटर संचालक मौत मामले को गाजियाबाद पुलिस ने सुलझाया   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • चार फरवरी 2022 की रात को दोनों भाइयों ने की थी हत्‍या
  • घर में घुसकर उसी के कमरे से फेंका नीचे, बोले- खुद गिरा
  • क्राइम ब्रांच ने छह माह जांच करने के बाद किया खुलासा

Ghaziabad News: शास्त्री नगर निवासी कोचिंग सेंटर संचालक की छत से गिरकर हुई मौत मामले को गाजियाबाद पुलिस ने सुलझा लिया है। कोचिंग सेंटर संचालक की दो भाइयों ने हत्‍या की थी। इन भाइयों की कार संचालक से दीवार में टकराकर क्षतिग्रस्‍त हो गई थी। इसके लिए दोनों भाई हर्जाना मांग रहे थे। इस हर्जाना के विवाद में दोनों भाइयों ने कोचिंग संचालक को दूसरी मंजिल से नीचें फेंक हत्‍या कर दी। चार फरवरी 2022 की रात हुई इस वारदात को क्राइम ब्रांच ने सुलझाया है। जिसके बाद कविनगर पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया।

कविनगर पुलिस के अनुसार शास्त्री नगर एम-ब्लॉक निवासी 43 वर्षीय अनिल कुमार एक  कोचिंग सेंटर चलाते थे। वारदात के बाद पुलिस पूछताछ में अनिल के भाई मनोज ने पुलिस को बताया था कि पड़ोस में रहने वाला हरेंद्र व उसका भाई नरेंद्र अनिल के दोस्त थे। चार फरवरी 2022 की रात को दोनों भाई अनिल को अपनी कार में साथ ले गए। उस समय मनोज ने आरोप लगाया था कि दोनों भाइयों ने मिलकर अनिल को शराब पिलाई और अपनी कार चलाने को दे दिया। जिससे घर आते समय पास के पार्क की दीवार से कार टकराकर क्षतिग्रस्त हो गई।

आरोपियों ने बोला था कि शराब के नशे में गिरकर मौत

मृतक के भाई ने पुलिस को बताया था कि कार में हुए नुकसान का हर्जाना लेने के लिए दोनों भाइयों ने अनिल को धमकाना शुरू किया। इससे डरा अनिल भागकर घर आ गया। पीछे से दोनों भाई भी घर आ गए और दूसरी मंजिल पर अनिल के कमरे में जाकर मारपीट कर उसे छत से नीचे फेंक दिया, जिससे उसकी मौके पर मौत हो गई। घटना के बाद पहुंची पुलिस ने जब दोनों भाइयों से पूछताछ की तो इन आरोपियों ने खुद को बेकसूर बताते हुए कहा था कि बातचीत के दौरान अनिल खुद नीचे गिर गया था। इस मामले को उलझता देख जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई। कविनगर एसएचओ अमित कुमार काकरान ने क्राइम ब्रांच द्वारा की गई जांच में पता चला कि अनिल खुद से नहीं गिरा, बल्कि जब उसने पैसे देने से इंकार कर दिया तो दोनों भाइयों  ने उसे उठाकर नीचे फेंक दिया था।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर