कपिल शर्मा शो में Divya Dutta ने सुनाई ये शानदार कविता, सेट पर मौजूद हर शख्‍स ने बजाई ताली

टीवी मसाला
Updated Sep 27, 2019 | 12:35 IST

Divya Dutt poem In Kapil sharma show : बॉलीवुड अदाकारा द‍िव्‍या दत्‍ता हाल ही में कपिल शर्मा शो पर बतौर मेहमान पहुंची थीं। यहां उन्‍होंने एक खूबसूरत कविता सुनाई जो सोशल मीडिया पर खूब वारयल हो रही है।

Divya Dutt poem In Kapil sharma show : बॉलीवुड अदाकारा द‍िव्‍या दत्‍ता हाल ही में कपिल शर्मा शो पर बतौर मेहमान पहुंची थीं। यहां उन्‍होंने एक खूबसूरत कविता सुनाई जो सोशल मीडिया पर खूब वारयल हो रही है। यूट्यूब से लेकर फेसबुक, वाट्सऐप तक पर यह कविता शेयर की जा रही है। यह खूबसूरत कविता जिसने भी लिखी हो, लेकिन उसे सुनाकर दिव्‍या दत्‍ता ने लोकप्रिय कर दिया है। 

इस कविता के बोल हैं- 'तुमने कहा था हम एक ही हैं, तो अपने बराबर कर दो ना। नैपी जब मैं बदलती ...हूं, तो दूध की बोतल भर दो ना।' इस कविता को किसने लिखा है इसको लेकर सोशल मीडिया पर कई नाम सामने आ रहे हैं। दिव्‍या दत्‍ता ने जब इस कविता को सुनाया तो कपिल शर्मा सेट पर मौजूद हर शख्‍स ने ताली बजाई। दिव्‍या दत्‍ता के साथ प्रोड्यूसर एकता कपूर भी वहां मौजूद थीं।

इस वीडियो को दिव्‍या दत्‍ता के फेसबुक पर एक मिलियन यानी 10 लाख से ज्‍यादा बार देखा गया वहीं सोनी टीवी के ऑफ‍िश‍ियल यूट्यूब अकाउंट पर इसे 28 लाख से ज्‍यादा बार देखा गया है।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Divya Dutta (@divyadutta25) on

 

ह‍िंदी स‍िनेमा में अलग पहचान के ल‍िए मशहूर अदाकारा द‍िव्‍या दत्‍ता ने 25 स‍ितंबर को 41वां जन्‍मदिन मनाया है। बता दें कि स‍िनेमा की दुनिया में कदम रखने से पहले वह एक मॉडल के रूप में सक्रिय थीं। उन्‍होंने कई ब्रैंड्स के ऐड में काम किया है। 1994 में वह पहली बार इश्‍क में जीना इश्‍क में मरना फ‍िल्‍म में नजर आईं। इसके बाद 1995 में वह फ‍िल्‍म सुरक्षा में नजर आईं।

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Divya Dutta (@divyadutta25) on

 

बेहतरीन अदाकारी के लिए दिव्‍या दत्‍ता को दर्जनों पुरस्‍कार से नवाजा जा चुका है। 2018 में उन्‍हें फ‍िल्‍म इरादा के लिए बेस्‍ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड मिला था। इससे पहले वह दो बार जी सिने अवॉर्ड, 2 बार आईफा अवॉर्ड भी अपने नाम दर्ज कर चुकी हैं।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...