KBC-11 में इलाहाबाद से आईं ऊषा यादव का खुलासा, बताया क्यों अमिताभ बच्चन से डरी हुई थीं

कौन बनेगा करोड़पति-11 से जीते 25 लाख रुपए का इस्तेमाल कंटेस्टेंट ऊषा यादव अपना मकान बनवाने में करेंगी। साथ ही इन पैसों से ऊषा बेटी को आगे पढ़ाने में भी खर्च करने वाली हैं।

KBC 11 Prayagraj Contestant usha yadav Fun Episode With amitabh Bachchan in kaun banesh crorepati
कौन बनेगा करोड़पति।  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • कौन बनेगा करोड़पति-11 में सोमवार को हॉट सीट पर कंटेस्टेंट ऊषा यादव बैठीं।
  • ऊषा यादव ने शो में बताया कि वो अमिताभ बच्चन के ही शहर इलाहाबाद से आई हैं।
  • ऊषा यादव केबीसी से जीती धनराशि का इस्तेमाल अपना मकान बनवाने में करेंगी।

कौन बनेगा करोड़पति-11 में सोमवार को अमिताभ बच्चन के सामने उनके ही शहर इलाहाबाद से आईं कंटेस्टेंट ऊषा यादव बैठीं। फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट में सबसे तेज जवाब देकर हॉट सीट पर आईं ऊषा यादव की खुशी बिग बी को देखते ही दोगुनी हो गई। केबीसी-11 के दौरान ही ऊषा यादव ने बताया कि वो शो में आने से पहले काफी डरी हुई थीं कि अमिताभ बच्चन इतने बड़े आदमी हैं तो कैसे होंगे? बकॉल ऊषा, 'कौन बनेगा करोड़पति में आने के बाद ना सिर्फ मेरी घबराहट दूर हो गई। बल्कि पता चला है कि वो भी हम जैसे ही आज लोगों की तरह पेश आते हैं।' ऊषा की ये बात सुनकर बिग बी भी हंस पड़े।
ऊषा यादव ने कौन बनेगा करोड़पति में पूरा मस्ती मजाक का माहौल बना दिया। दरअसल ऊषा को एक शब्द से मिलता-जिलता दूसरा शब्द बोलने की आदत है। जैसे खाना-वाना, न्यूज-व्यूज... ये सब बातें ऊषा के मुंह से सुनते-सुनते अमिताभ बच्चन भी उन्हीं के अंदाज को कॉपी करते नजर आए। अमिताभ बच्चन हर सवाल के बाद ऊषा यादव की इस आदत को लेकर केबीसी में मस्ती मजाक करते दिखे। 

 

 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

(@sonytvofficial) on


ऊषा यादव कौन बनेगा करोड़पति से जीती 25 लाख रुपए की धनराशि का इस्तेमाल अपना मकान बनवाने में करेंगी। साथ ही इन पैसों को ऊषा बेटी की पढ़ाई और देश घूमने में भी खर्च करने वाली हैं।
ऊषा यादव ने हाई, स्कूल, इंटर, बीए और बीएड करने के बाद टीईटी और सीटीईटी किया है। उन्होंने जनवरी 2019 में शिक्षक भर्ती परीक्षा क्वालीफाई की थी। हालांकि ऊषा की ये 69 हजार शिक्षकों की भर्ती परीक्षा किन्हीं कारणों से अदालत में विचाराधीन है। केबीसी-11 में ऊषा यादव ने अपने सपने के बारे में बताया था कि अगर वो शिक्षक की भर्ती क्लियर कर लेंगी तो इस जॉब के साथ-साथ आगे प्रशासनिक सेवा की तैयारी करेंगी।   

 

 


बात पर्सनल लाइफ की करें तो ऊषा यादव ने दिसंबर 2012 को धर्मेंद्र यादव से शादी की थी। धर्मेंद्र बतौर शिक्षक मिर्जापुर जिले के प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत हैं। ऊषा की एक बेटी भी है जिसका नाम नित्या है। 

 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...