शूटिंग पर लौटने की तैयारी में भाबीजी घर पर हैं के 'विभूति', बोले- लॉकडाउन ने समझाया समय और आजादी का महत्व

Aasif Sheikh speaks on lockdown days: लॉकडाउन के बाद सीरियल्‍स की शूटिंग शुरू हो रही है। ऐसे में ‘भाबीजी घर पर हैं’ फेम एक्‍टर आसिफ शेख ने लॉकडाउन के द‍िनों के अनुभव को साझा कर रहे हैं।

Aasif Sheikh.jpg
Aasif Sheikh.jpg 
मुख्य बातें
  • ढाई महीने बाद शुरू हो रही है सीरियल्‍स की शूटिंग
  • महाराष्ट्र सरकार के दिशानिर्देशों का करना होगा पालन
  • कैमरे के सामने से हटते ही मास्‍क लगाकर रहेंगे स‍ितारे

Bhabiji ghar par hain fame Aasif Sheikh speaks on lockdown days: एंड टीवी के आपके चहेते शोज और किरदारों ने एक बार फिर अपने दर्शकों का मनोरंजन करने के लिये कमर कस ली है। लोकप्रिय धारावाहिक ‘भाबीजी घर पर हैं’ के सितारे भी सेट पर लौटने को तैयार हैं। शो के मेकर्स की तरफ से सितारों को कोरोना काल में शूटिंग करने के ल‍िए गाइडलाइन जारी कर दी गई है। लंबे समय बाद सीरियल्‍स की शूटिंग शुरू हो रही है और इस दौरान महाराष्ट्र सरकार के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए सेट्स पर काम होगा। 

पहले रुटीन में आने को बेताब विभूति

इस धारावाहिक में विभूति नारायण मिश्रा का लीड‍ किरदार न‍िभाने वाले आसिफ शेख भी अपने दर्शकों के बीच नए अंदाज में आने के ल‍िए बेसब्र हैं। उन्‍होंने बताया कि मैं अपने पहले वाले रूटीन में आने के लिये बेताब हो रहा हूं। प्रोडक्शन टीम ने हमें शूटिंग से जुड़ी गाइडलाइन्स और सावधानियों के बारे में अच्छी तरह समझा दिया है। वो इस बात का पूरा ध्यान रख रहे हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पूरी तरह से पालन हो, जब कैमरे के सामने ना हों तो मास्क पहनें। इसके साथ ही सेट पर काफी अच्छा सैनिटाइजेशन किया जा रहा है।  

ऐसे बीता विभूति का लॉकडाउन

आसिफ शेख कहते हैं कि मैंने इस समय का भरपूर उपयोग अपने परिवार के साथ और अधिक वक्त बिताने में किया। अपने पढ़ने और लिखने के शौक को दोबारा शुरू किया और साथ ही खाना बनाने में भी खूब हाथ आजमाए। साथ ही मैं नये घर में भी शिफ्ट हुआ, जोकि काफी मुश्किल काम था। मुझे अपने किरदार विभूति नारायण में ढलने और दर्शकों का मनोरंजन करने का बेसब्री से इंतजार था। काफी सारे फैन्स कहते आ रहे हैं कि उन्हें यह शो कितना पसंद है और वो लगातार इसे देख रहे हैं। 

लॉकडाउन ने सिखाया आजादी का महत्‍व

उन्‍होंने बताया कि इस लॉकडाउन ने मुझे पहले से कहीं ज्यादा समय और आजादी का महत्व समझाया। हर कोई अपने घरों में बंद था और घर के कामों में व्यस्त था। सभी अपने परिवारवालों के साथ रिश्तों को और मजबूत बनाने में लगे थे, नये-नये हुनर सीख रहे थे और अपने भूले-बिसरे शौक पर जमी धूल साफ कर रहे थे। लेकिन आप घर से बाहर नहीं जा सकते थे। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें Entertainment News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर