RRR: धनुष-बाण लेकर ब्रिटिश सेना से भिड़े थे क्रांतिकारी अल्लूरी सीताराम राजू, पेड़ से बांधकर मारी थी गोलियां

RRR Alluri Sitaram Raju Komaram Bheem: एस.एस राजामौली की फिल्म आरआरआर से जूनियर एनटीआर और राम चरण का पहला लुक जारी हो गया है। जूनियर एनटीआर कोमाराम भीम राम चरण अल्लूरी सीतारामा राजू का किरदार निभा रहे हैं।

Alluri Sitaram Raju
Alluri Sitaram Raju 

मुख्य बातें

  • एस.एस.राजामौली की फिल्म आरआरआर का पहला लुक जारी हो गया है।
  • फिल्म में जूनियर एनटीआर कोमाराम भीम का किरदार निभा रहे हैं।
  • राम चरण फिल्म में अल्लूरी सीतारामा राजू का किरदार निभा रहे हैं।

मुंबई. बाहुबली के डायरेक्टर एस.एस.राजामौली की अगली फिल्म RRR है। फिल्म के दोनों लीड हीरो जूनियर एनटीआर और राम चरण का पहला लुक सामने आया है। राम चरण फिल्म में स्वतंत्रता सेनानी अल्लूरी सीताराम राजू का किरदार निभा रहे हैं। वहीं,  जूनियर एन.टी.आर कोमाराम भीम के रोल में नजर आएंगे। 

अल्लूरी सीताराम राजू का जन्म 1897 विशाखापट्टनम में हुआ था। 18 वर्ष की उम्र में ही साधु बन गए थे। उन्होंने मुंबई, बड़ोदरा, बनारस, ऋषिकेश, बद्रीनाथ, असम, बंगाल और नेपाल तक की यात्रा की। इस दौरान उन्होंने घुड़सवारी, तीरंदाजी, योग और ज्योतिष की शिक्षा ली थी। वह काली मां के उपासक थे।

अल्लूरी सीताराम पर महात्मा गांधी के विचारों का बहुत प्रभाव पड़ा। सन 1920 में उन्होंने आदिवासियों को शराब छोड़ने तथा अपने विवाद पंचायतों में हल करने की सलाह दी। सीताराम राजू कुछ वक्त बाद गांधीजी के विचारों को छोड़कर अंग्रेज़ों के विरुद्ध हथियार उठा लिए थे। वह धनुष-बाण लेकर ब्रिटिश से भिड़ गए थे। 

Image

राम्पा आंदोलन का किया था नेतृत्व
अल्लूरी सीताराम राजू ने मालाबार का पर्वतीय क्षेत्र रम्पा को क्रांतिकारी आन्दोलन का केंद्र बना लिया। अल्लूरी सीताराम राजू ने आधुनिक हथियारों के लिए डाका डालना शुरू किया।  22 अगस्त, 1922 को उन्होंने चिंतापल्ली पुलिस स्टेशन पर हमला किया और  300 सैनिकों के साथ शस्त्रों को लूटा। 

सीताराम राजू ने इसके बाद कृष्णदेवीपेट के पुलिस स्टेशन पर हमला कर किया और अपने साथी विरयया डोरा को मुक्त करवाया। इसके बाद उन्होंने छोड़ावरन, रामावरन में हमला किया। अल्लूरी सीताराम राजू के हमलों से निपटने के लिए सरकार ने 'असम रायफल्स' सेना का संगठन किया।

Image

पेड़ से बांधकर मारी थी गोली 
अल्लूरी राजू और उनके साथियों को पकड़ने की जिम्मेदारी 'असम रायफल्स' का नेतृत्त्व उपेन्द्र पटनायक कर रहे थे। मुठभेड़ में दोनों तरफ से सैनिक मारे जा रहे थे। 7 मई 1924 अकेला जंगल में भटक रहे थे, तभी फोर्स के एक अफसर की नज़र राजू पर पड़ी गई। 

राजू का छिपकर पीछा किया हालंकि वह लंबी दाढ़ी के कारण वह राजू को पहचान नहीं सके थे। पुलिस दल ने राजू पर पीछे से गोली चलाई। राजू जख्मी होकर  गिर पड़े। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर यातनाएं दी गई। आखिर में गोरती' नाम के सैन्य अधिकारी ने सीताराम राजू को पेड़ से बांधकर उन पर गोलियां चलाई। 

आसफ जाही राजवंश के खिलाफ किया विद्रोह
कोमाराम भीम का जन्म संकेपल्ली, आदिलाबाद में 1900 में हुआ था। वह गोंड (कोइतुर) समाज से थे। कोमाराम भीम ने हैदराबाद की मुक्ति के लिये के आसफ जाही राजवंश के विरुद्ध संघर्ष किया था। उन्होंने वन में रहकर राजवंश के खिलाफ संघर्ष किया था।

आपको बता दें कि फिल्म में एनटीआर जूनियर, राम चरण के अलावा आलिया भट्ट लीड रोल में हैं। फिल्म में अजय देवगन कैमियो करते दिखेंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक वह एक बार फिर भगत सिंह के किरदार में नजर आ सकते हैं। 

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर