'बिस्तर पर नहीं सोती थीं, आते थे सुसाइड के ख्याल' - रिया चक्रवर्ती की मां Sandhya Chakraborty ने तोड़ी चुप्पी

बॉम्बे हाईकोर्ट ने रिया चक्रवर्ती को जमानत दे दी। जेल से रिहाई के बाद पहली बार उनकी मम्मी संध्या चक्रवर्ती ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। संध्या चक्रवर्ती के मुताबिक इस मामले ने उनकी पूरी जिंदगी तबाह कर दी है।

Rhea Chakraborty's Mother Sandhya Chakraborty
Rhea Chakraborty family 

मुख्य बातें

  • रिया चक्रवर्ती की मम्मी संध्या चक्रवर्ती ने बेटी के जेल से रिहा होने पर चुप्पी तोड़ी है।
  • रिया चक्रवर्ती की मम्मी संध्या ने बताया कि वह अपनी बेटी को थेरेपी के लिए भेजने वाली हैं। 
  • रिया की मम्मी के मुताबिक उन्हें आत्महत्या के ख्याल आते थे।

मुंबई. रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स मामले में बंबई हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है। इसके बाद रिया चक्रवर्ती भायखला जेल से निकलकर अपने घर पहुंच गई हैं। अब रिया चक्रवर्ती की मम्मी संध्या ने बताया कि वह अपनी बेटी को थेरेपी के लिए भेजने वाली हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में रिया चक्रवर्ती की मम्मी संध्या चक्रवर्ती ने बताया कि- ‘जिन हालातों से वो निकली है, अब वो उन सबसे कैसे उभरेगी? लेकिन वो एक फाइटर है, उससे मजबूत रहना होगा।'

रिया की मम्मी ने कहा-'मुझे उसकी थेेरेपी करवानी पड़ेगी ताकी वो इस सदमे से बाहर निकल सके और जिंदगी को दोबोरा जी सके।' रिया चक्रवर्ती की मम्मी के मुताबिक ये वक्त पूरे परिवार के लिए काफी बुरा है। जब कोर्ट ने रिया और उनके भाई की कस्टडी दो हफ्तों के लिए बढ़ा दी तो वह बेहोश हो गए थे। ’ 

घर में लगवाया है सीसीटीवी कैमरा
संध्या चक्रवर्ती आगे कहती हैं कि उन्हें इस बात का सुकून है कि रिया चक्रवर्ती जेल से बाहर निकल आई है। हालांकि, अभी ये लड़ाई और पागलपन खत्म नहीं हुआ है। अभी मेरा बेटा शोविक चक्रवर्ती जेल में ही हैं। 

बकौल संध्या चक्रवर्ती- 'मैं केवल ये सोचकर ही परेशान हो कि कल क्या होगा। जब घर के दरवाजे की घंटी बजती है तो मैं डर जाती हूं कि सीबीआई होगी या कोई रिपोर्टर? इस कारण घर के बाहर हमने सीसीटीवीी कैमरा तक लगवा दिया है ताकि पता चले कि कौन आ रहा है।'   

तबाह हो गई जिंदगी
संध्या चक्रवर्ती ने बताया कि इस प्रकरण में हमारे पूरे परिवार जिंदगी बर्बाद हो गई है। कई बार हमें आत्महत्या तक करने का भी ख्याल आया था। मेरे पति ईडी के दफ्तर से वापस घर लौट रहे थे तो उनका पीछा किया गया था। इतने दिनों तक हमने ठीक से खाना नहीं खाया। मैं बिस्तर पर नहीं सोती क्योंकि मेरे बच्चे जेल में हैं।'

संध्या चक्रवर्ती आखिर में कहती हैं कि मैं खुद को याद दिलाते रहती हूं कि मुझे अपने बच्चों के लिए जीना होगा। आपको बता दें कि बॉम्बे हाई कोर्ट की ओर से रिया चक्रवर्ती को 1 लाख रुपए के बॉन्ड के साथ जमानत मिली है। अदालत ने रिया के भाई शौविक चक्रवर्ती की याचिका को खारिज कर दिया है। 

Bollywood News in Hindi (बॉलीवुड न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर । साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) केअपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर