लता मंगेशकर ने दी थी नकल ना करने की नसीहत, अब रानू मंडल ने दिया ये जवाब

बॉलीवुड
Updated Sep 15, 2019 | 11:42 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

लता मंगेशकर का गाना एक प्यार का नगमा है गाकर फेमस हुईं रानू मंडल लगातार चर्चा में हैं। हाल ही में उन्होंने हिमेश रेशमिया के साथ गाना तेरी मेरी कहानी को लॉन्च किया था।

Ranu Mondal, Lata Mangeshkar
Ranu Mondal, Lata Mangeshkar  

मुख्य बातें

  • लता मंगेशकर के बयान पर हाल ही में रानू मंडल ने जवाब दिया है
  • रानू मंडल से पहले हिमेश रेशमिया ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी
  • पिछले दिनों ही रानू, हिमेश रेशमिया के साथ 'तेरी मेरी कहानी' गाने को लॉन्च किया था

रानू मंडल एक वीडियो की वजह से वायरल हो गई थीं, जिसमें वे लता मंगेशकर का गाना 'एक प्यार का नगमा है' गा रही थीं। जब ये वीडियो लता मंगेशकर के पास पहुंचा तो उन्होंने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। इस दौरान उन्होंने कहा कि वो अपनी ओरिजनल आवाज में गाएं और नकल ना करें। अब रानू मंडल ने लता मंगेशकर के इस बयान पर अपना जवाब दिया है।

एक वेबसाइट को रानू मंडल ने बताया कि लताजी की उम्र के हिसाब से मैं छोटी थी, हूं और आगे जाकर भी रहूंगी।...बचपन से उनकी आवाज मुझे पसंद है। बता दें कि रानू एक वीडियो वायरल होने के बाद रातों-रात स्टार बन गईं थी। इस वीडियो में रानू एक रेलवे स्टेशन पर गाना गाती नजर आ रही थीं।

इसके बाद रानू मंडल ने बॉलीवुड सिंगर-कंपोजर हिमेश रेशमिया के साथ तीन गाने गाए। जिसका वीडियो हिमेश रेशमिया ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया था। वहीं गाने के लॉन्च के दौरान जब हिमेश रेशमिया से लता मंगेशकर के बयान पर सवाल किया गया तो उन्होंने बताया कि हर कोई कहीं ना कहीं किसी से प्रेरित होता है। वैसे ही रानू मंडल, लता मंगेशकर से प्रेरित हैं।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Himesh Reshammiya (@realhimesh) on

उन्होंने उदाहरण के तौर पर कुमार शानू का नाम लिया और बताया कि वो खुद किशोर कुमार से प्रेरित हैं। हिमेश ने कहा कि कोई लता जी जैसा नहीं बन सकता है। वो एक महान गायिका हैं और उनकी जो यात्रा रही है उससे कोई भी प्रेरिते हो सकता है। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Himesh Reshammiya (@realhimesh) on

बता दें कि लता मंगेशकर ने रानू मंडल को लेकर कहा था कि अगर मेरे नाम और काम से किसी को भला होता है तो मैं अपने आप को खुशकिस्मत समझती हूं। लेकिन मुझे लगता है कि नकल सफलता के लिए ठीक नहीं हैं। मेरे, किशोर दा, रफी साहब, मुकेश भैया या आशा के सॉन्ग्स गाने से नए गायकों को सिर्फ शॉर्ट-टर्म अटेंशन ही मिल सकता है। 

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...