सुशांत की मौत के बाद Kangna ने अंकिता लोखंडे से की थी बात, पूर्व गर्लफ्रेंड ने बताई थी एक्टर की पुरानी आदत

Kangna Talk to Ankita Lokhande after Sushant Death: एक नए इंटरव्यू में कंगना रनौत ने खुलासा किया किया है कि सुशांत की मौत के बाद अभिनेता के बारे में उनकी पूर्व गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे को उन्होंने फोन किया था।

Kangna spoke to Ankita after Sushant's death
सुशांत की मौत के बाद कंगना ने अंकिता से की थी ये बात 

मुख्य बातें

  • ताजा इंटरव्यू में कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत को लेकर किए कई नए खुलासे
  • अभिनेता की मौत के बाद फोन पर अंकिता लोखंडे से की थी बात
  • कंगना का दावा- 'अंकिता ने बताया कि सुशांत लगातार मिल रहे अपमान को नहीं झेल पाया'

मुंबई: पिछले महीने सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के बाद कंगना रनौत ने बॉलीवुड में ’मूवी माफिया’ के खिलाफ खुलकर आवाज उठाई है। एक नए इंटरव्यू में, उसने दावा किया है कि सुशांत की पूर्व-प्रेमिका अंकिता लोखंडे ने उन्हें बताया था कि उसे बॉलीवुड में और नकारात्मक प्रेस की ओर से बहुत अपमान ’का सामना करना पड़ा। अंकिता लोखंडे ने कंगना की फिल्म मणिकर्णिका में उनके साथ काम किया था।

द टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ इंटरव्यू में, कंगना ने कहा कि सुशांत की मौत के बाद उन्होंने दोस्त और 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ़ झांसी' में सह-कलाकार को फोन किया था। कंगना ने कहा, 'जब मैंने अंकिता से बात की, तो उसने बताया कि सुशांत को शुरू से ही इतना अपमान मिला की वह इसे बर्दाश्त नहीं कर सका।'

अंकिता ने कंगना के हवाले से कहा, सुशांत ने टेलीविजन की दुनिया से बॉलीवुड में कदम रखा और उसे एक के बाद एक ऑडिशनों में रिजेक्शन का सामना करना पड़ा। वह बहुत कम समय में सबसे अधिक मांग वाले सितारों में से एक बनने के बाद भी वह जमीन से जुड़ा रहा। वह इस बात के प्रति बहुत संवेदनशील था कि दूसरों के साथ उसे कैसा व्यवहार करना है।

कंगना ने कहा, 'लेकिन एक बात जो उसने (अंकिता) सुशांत के बारे में कही कि वह खुद भी बहुत संवेदनशील था। जब वह नया था तो ट्विटर पर फैंस से पूछता रहता था कि वह उसके बारे में क्या और क्यों सोचते हैं? आप मेरे बारे में क्या बात कैसे कहते हैं? आपने मेरे बारे में ऐसा क्यों कहा? मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं जो आप कह रहे हैं।'

आगे कंगना ने कहा, 'अंकिता ने मुझे बताया कि वह उसे समझाया करती थीं कि लोग तो अपनी सोच के हिसाब से बातें कहेंगे ही और सब सबकी अपनी धारणा होगी। लेकिन उसे इस बात से बहुत फर्क पड़ता था कि लोग उसके बारे में क्या सोचते हैं। इस बीच उसके खिलाफ लोग इकट्ठे हो गए।'

अगली खबर