Jeetendra Birthday: मुंबई की चॉल में ऐसी थी जितेंद्र की जिंदगी, अपने एक्टिंग करियर में दी 121 हिट फिल्में

बॉलीवुड एक्टर जितेंद्र का आज जन्मदिन है और वो 78 साल के हो गए हैं। जितेंद्र ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो गिरगांव के चॉल से आते हैं और जब उनके घर में क्रॉम्पटन का पंखा लगा था तब लोग उसे देखने आए थे।

Actor Jeetendra
Actor Jeetendra 

मुख्य बातें

  • आज एक्टर जितेंद्र का जन्मदिन है और वो 78 साल के हो गए हैं
  • जितेंद्र ने अपने करियर में 121 हिट फिल्में दीं और साउत की 80 हिंदी रीमेक फिल्मों में काम किया
  • जितेंद्र ने साल 1964 में फिल्म गीत गाया पत्थरों ने से बॉलीवुड डेब्यू किया था

बॉलीवुड के जंपिंग जैक कहे जाने वाले एक्टर जितेंद्र का आज जन्मदिन है और वो 78 साल के हो गए हैं। जितेंद्र का जन्म 7 अप्रैल 1942 को पंजाब को अमृतसर में हुआ था और उनके पेरेंट्स ने उनका नाम रवि कपूर रखा। उन्होंने मुंबई के गिरगांव चौपाटी स्थित सेंट सेबेस्टियन गोअन हाई स्कूल से पढ़ाई की, जहां से सपरस्टार राजेश खन्ना ने भी पढ़ाई की थी। 

जितेंद्र ने साल 1964 में फिल्म गीत गाया पत्थरों ने से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था। हालांकि साल 1967 में रिलीज हुई फिल्म फर्ज से उन्हें कामयाबी मिली थी। फिल्म के गाने 'मस्त बहारों का मैं आशिक' में उनके स्टाइल को काफी पसंद किया गया था। इसके बाद वो फिल्म कारवां और हमजोली में नजर आए जिसमें उनके ज्यादा डांस नंबर थे। उनके डांस को फैंस काफी पसंद करते थे और इसके चलते वो बॉलीवुड के जंपिंग जैक कहलाए जाने लगे। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Erkrek (@ektarkapoor) on

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Erkrek (@ektarkapoor) on

(अपने नाती रवि और पोते लक्ष्य कपूर के साथ जितेंद्र)

करियर में दी 121 हिट फिल्में

अपने एक्टिंग करियर में जितेंद्र ने करीब 200 फिल्मों में काम किया जिनमें से 121 फिल्में हिट रहीं। वहीं अपने करियर में जितेंद्र ने करीब 80 साउथ इंडियन हिंदी रीमेक फिल्मों में काम किया, जिनमें से अधिकतर तेलेगु फिल्में थीं। जितेंद्र ने अपने करियर में एक्ट्रेस रेखा के साथ करीब 40 फिल्मों में काम किया।

घर में पंखा लगने पर देखने आया था पूरा चॉल

जितेंद्र ने एक इंटरव्यू में बताया था कि 8 साल में उन्होंने 60 फिल्मों में काम किया था। उन्होंने बताया था कि वो मुंबई की चॉल में रहते थे जहां उनके घर में पंखा लगने के बाद सभी उसे देखने आए थे। एक्टर ने कहा था, 'मैं मानता हूं कि 80 के दशक के शुरुआत में मैं बहुत इनसिक्योर था। मैं वो शख्स हूं जो गिरगांव के चॉल से आता हूं। मैं यह बताना चाहूंगा कि जब पहली बार हमारे घर में क्रॉम्पटन का पंखा लगा था तब पूरा चॉल उसे देखने आया था।' उन्होंने कहा, 'मैं पढ़ाई में बहुत अच्छा नहीं था और अगर एक्टिंग में भी अच्छा नहीं कर पाता तो कहीं मुंह छुपाने लायक नहीं रहता।' 

दो बार जॉबलेस हुए जितेंद्र

एक्टर ने बताया था कि उनके 40 साल के करियर में दो बार ऐसा समय आया जब उनके पास काम और पैसे नहीं थे। पहली बार यह समय 1972-1974 के बीच आया था। इसके बाद 1982 में उनकी होम प्रोडक्शन फिल्म 1982 के बाद यह समय आया था। एक्टर ने बताया कि इसके बाद उन्होंने साउथ इंडस्ट्री की हर हिंदी रीमेक फिल्म में काम किया।

अगली खबर