Laxmmi Bomb: अक्षय कुमार के लिए बेहद मुश्किल था ट्रांसजेंडर का रोल निभाना, बोले- 30 साल के करियर में...

Akshay Kumar on transgender character: अक्षय कुमार की फिल्म 'लक्ष्मी बॉम्ब' ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने जा रही है। फिल्म में उन्होंने ट्रांसजेंडर का रोल निभाया है।

Akshay Kumar
अक्षय कुमार 

मुख्य बातें

  • अक्षय कुमार की फिल्म 'लक्ष्मी बॉम्ब' पहले ईद पर रिलीज होने वाली थी
  • फिल्म में अक्षय कुमार एक ट्रांसजेंडर का रोल निभा रहे हैं
  • 'लक्ष्मी बॉम्ब' ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी

बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार ने सोमवार को अपनी आगामी फिल्म 'लक्ष्मी बॉम्ब' का पोस्टर आधिकारिक तौर पर जारी कर दिया। राघव लॉरेंस के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अक्षय के साथ एक्ट्रेस कियारा आडवाणी भी मुख्य भूमिका में हैं। अक्षय ने साथ ही यह भी पुष्टि की कि उनकी आगामी फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होगी।

अक्षय को भारतीय फिल्म इंडस्ट्री के सबसे बहुमुखी अभिनेताओं में से एक माना जाता है। अक्षय ने 'लक्ष्मी बॉम्ब' में एक ट्रांसजेंडर को रोल निभाया है। उन्होंने अपने इस रोल को बेहद चैलेंजिंग बताया है। उनका कहना है कि तीन दशक के करियर में यह मानसिक तौर पर थका देने वाला रोल था।

एक ट्रांसजेंडर का किरदार निभाने के अपने अनुभव के बारे में बात करते हुए अक्षय कुमार ने कहा कि मेरे 30 वर्षों के फिल्मी करियर में, यह मानसिक तौर पर थका देने वाला रोल था। मैंने ऐसा इससे पहले कभी अनुभव नहीं किया। इसका श्रेय मेरे डायरेक्टर लॉरेंस सर को जाता है, जिन्होंने मुझे उस चीज से परिचित कराया, जिसका मुझे पता नहीं था।

उन्होंने आगे कहा कि मैंने पहले कभी ऐसा कुछ नहीं किया। मुझे सावधान रहना पड़ा कि मैं ईमानदारी से बिना किसी कम्युनिटी को नाराज किए अपना रोल निभाऊं। मैंने यह सुनिश्चित करने के लिए कई रीटेक दिए। मैंने 150 से अधिक फिल्में की हैं, लेकिन मैं हर दिन सेट पर जाने के लिए एक्साइटेड रहता था। इस फिल्म ने मुझे लैंगिक समानता के बारे में और भी समझ दी है।  

'लक्ष्मी बॉम्ब' फिल्म में अक्षय कुमार साड़ी पहने नजर आएंगे। वहीं, फिल्म के रिलीज के ऐलान के वक्त जब अक्षय से साड़ी पहनकर शूट करने के अनुभव के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कि साड़ी पहनकर शूट‌ करने का उनका अनुभव इतना आसान नहीं था। उन्होंने बताया कि शूटिंग की शुरुआत में तो साड़ी उतर जाया करती थी और सही से चला भी नहीं जाता था। उन्होंने कहा कि ऐसे मौकों पर कॉस्ट्यूम डिजाइनर संभाल लिया करते थे।
 

अगली खबर