प्रवासी मजदूरों के बाद अब Sonu Sood ने की केरल में फंसी 177 लड़कियों की मदद, एयरलिफ्ट करवा पहुंचाया घर

Sonu Sood Helps 177 Girls: प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के बाद सोनू सूद ने अब केरल में फंसी 177 लड़कियों को एयरलिफ्ट करवा उनके घर पहुंचाया।

Sonu Sood
Sonu Sood  |  तस्वीर साभार: Instagram

मुख्य बातें

  • फिर मदद के लिए आगे आए सोनू सूद
  • प्रवासी मजदूरों के बाद अब केरल में फंसी 177 लड़कियों की सोनू सूद ने की मदद
  • सभी लड़कियां केरल की फैक्ट्री में काम करती थीं

कोरोना वायरस के कारण इस समय देश में लॉकडाउन है। इस मुश्किल समय में बॉलीवुड ने मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया और सेलेब्स ने इसके लिए धनराशि दान की। इन सबके बीच एक्टर सोनू सूद प्रवासी मजदूरों की मदद कर उन्हें घर पहुंचा रहे हैं। मुंबई में फंसे कई मजदूरों को सोनू बसों के जरिए घर भेज चुके हैं। 

मजदूरों के बाद सोनू ने की 177 लड़कियों की मदद

मजदूरों की मदद के बाद अब सोनू सूद ने केरल में फंसी 177 लड़कियों को एयरलिफ्ट करवाया है। ये सभी लड़कियां केरल के एर्नाकुलम की एक फैक्ट्री में सिलाई और एंब्रॉयड्री का काम करती है जो कि लॉकडाउन में बंद हो गई जिसके बाद से ये लड़कियां यहां फंसी हुईं थीं।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood) on

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood) on

सोनू सूद के दोस्त ने दी थी फंसी लड़कियों की जानकारी

एक वेबसाइट के मुताबिक सोनू सूद के करीबी सूत्र ने बताया, 'सोनू के भुवनेश्वर के एक दोस्त ने उन्हें इन फंसी हुई लड़कियों के बारे में बताया था जिसके बाद सोनू ने इन लड़कियों की हर मुमकिन मदद करने का फैसला किया। इसके बाद उन्होंने इस काम की शुरुआत की और उन्होंने कोच्चि व भुवनेश्वर एयरपोर्ट को ऑपरेट करने के लिए सरकार से कई तरह की इजाजत मांगी।'

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood) on

बेंगलुरु से मंगवाया स्पेशल एयरक्राफ्ट

इन लड़कियों को एयरलिफ्ट करने के लिए बेंगलुरु से स्पेशल एयरक्राफ्ट मंगवाया गया जो इन लड़कियों को कोच्चि से भुवनेश्वर लेकर जाएगा ताकि ये सभी अपने घर पहुंच सकें। 

अजय देवगन ने की थी सोनू की तारीफ

सोनू सूद के काम की तारीफ हर कोई कर रहा है। हाल ही में एक्टर अजय देवगन ने भी सोनू सूद की तारीफ करते हुए ट्वीट किया था। अजय ने ट्वीट कर लिखा था, 'प्रवासी मजदूरों को सुरक्षित घर भेजने को लेकर जो संवेदनशील काम आप कर रहे हैं वह एक उदाहरण है। आपको और हिम्मत मिले, सोनू।'

अगली खबर