योगी आदित्यनाथ कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, जानें कैसा हो सकता है स्वरूप

यूपी में मंत्रिमंडल की कवायद तेज हो गई है। इस संबंध में बुधवार को दिल्ली में करीब 6 घंटे तक गहन मंथन किया गया।

Assembly Election 2022, UP Assembly Election 2022, UP Assembly Election Result 2022, BJP, Yogi Adityanath
यूपी में योगी कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, जानें कैसा हो सकता है स्वरूप 
मुख्य बातें
  • योगी आदित्यनाथ 21 मार्च को ले सकते हैं शपथ
  • दिल्ली में कैबिनेट के मुद्दे पर मंथन
  • नए और अनुभवी चेहरे को मिल सकती है जगह

यूपी में योगी आदित्यनाथ सरकार मंत्रिमंडल की संभावित तारीख 21 मार्च बताई जा रही है।  इन सबके बीच खबर है कि योगी आदित्यनाथ ने शपथ ग्रहण के लिए पीएम मोदी को निमंत्रित किया है और जब वो तारीख देंगे उसके हिसाब से शपथ ग्रहण कार्यक्रम को संपन्न कराया जाएगा।  उससे पहले दिल्ली में बुधवार को मंत्रिमंडल के संबंध में दिल्ली में गहन चर्चा हुई। इस बैठक में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, संगठन मंत्री बी एल संतोष, योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, स्वतंत्र देव सिंह, केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा शामिल थे। इस तरह के कयास लगाए जा रहे हैं कि योगी मंत्रिमंडल में युवा और प्रशासनिक बैकग्राउंड वाले एमएलए या एमएसली को जगह मिल सकती है। जानकारों का कहना है कि 2022 के मंत्रिमंडल में करीब नरेंद्र मोदी 2.0 की झलक रहेगी। 2024 के आम चुनाव को देखते हुए योगी मंत्रिमंडल के गठन पर बारीकी से ध्यान दिया जा रहा है ताकि 2024 के चुनाव में बीजेपी एक बार फिर सत्ता पर काबिज हो सके।

37 वर्ष बाद किसी सरकार की दोबारा वापसी
यूपी में करीब 37 वर्ष बाद कोई दल दोबारा सरकार बना रही है। बीजेपी के खाते में 255 सीट और घटक दलों समेत 273 सीटें मिली थीं। बीजेपी संसदीय दल की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी की जीत को बड़ी जीत बताते हुए कहा था कि अब हमें और सतर्कता और जिम्मेदारी के साथ आगे बढ़ना होगा। लोगों ने जिस तरह से पार्टी में भरोसा जताया है उसके बाद हमें अपनी योजनाओं को और बेहतर तरीके से जमीन पर उतारना होगा। पीएम मोदी ने उस मौके पर कहा कि सार्वजनिक जीवन में तरह तरह के आरोपों का सामना करना पड़ता है। लेकिन हमें यह देखना होगा कि उन आरोपों को किस तरह से जवाब दे सकते हैं। अब जब बीजेपी का विजय पताका बुलंदियों पर है तो विपक्ष की तरफ से कई तरह के दुष्प्रचार किए जाएंगे। लेकिन हम सबको और अधिक सजग रहने की आवश्यकता होगी।

योगी कैबिनेट 2.0 : मंत्रिमंडल में नए चेहरे या पुराने? देखें मंत्रियों की संभावित लिस्ट

बीेजेपी की जीत में इनकी खास भूमिका 

सोशल मीडिया से भाजपा की उपलब्धियों का प्रचार और विपक्ष पर हमले की रणनीति सोशल मीडिया प्रभारी अंकित चंदेल ने देखी।पीएम की और अन्य नेताओं की वर्चुअल रैलियों का संचालन और नियमित होने वाली वर्चुअल मीटिंग्स का पूरा प्रबंधन आईटी सेल के इंचार्ज रहे कामेश्वर मिश्र ने किया। चुनाव के दौरान चलने वाले विशेष अभियान के संबंध में का कार्य प्रदेश मंत्री अर्चना मिश्रा ने किया। इसमें महिला ओबीसी सहित अन्य संपर्क अभियान भी चले। प्रदेश उपाध्यक्ष विजय बहादुर पाठक ने विस्तारक योजना वह मन की बात के कार्यक्रम के माध्यम से कार्य किया।शिवकुमार पाठक ने प्रवासी कार्यकतार्ओं व विधानसभा प्रवासियों के समन्वय का कार्य किया है। अतिथि प्रोटोकॉल से लेकर मुख्यालय से संबंधित तमाम व्यवस्थाओं का कार्य मुख्यालय प्रभारी भारत दीक्षित के नेतृत्व में हुआ, जिसमें सह प्रभारी लक्ष्मण चौधरी और अतुल अवस्थी की भूमिका अहम रही।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर