बिहार में JEE, NEET और NDA कैंडिंडेट्स के लिए रेलवे चलाएगी 20 जोड़ी स्पेशल पैसेंजर ट्रेन

एजुकेशन
रवि वैश्य
Updated Sep 01, 2020 | 22:09 IST

बिहार में JEE, NEET व NDA में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक आने-जाने की सुविधा हेतु भारतीय रेलवे 2 से 15 सितंबर तक स्पेशल ट्रेन चलाने जा रहा है।

Railways will run 20 pairs of special passenger trains for JEE, NEET and NDA candidates in Bihar
बिहार में इन एग्जाम में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक आने-जाने की सुविधा हेतु  रेलवे 2 से 15 सितंबर तक स्पेशल ट्रेन चलाएगा 

कोरोना संकट के बीच सरकार  JEE, NEET और NDA के एग्जाम कराने जा रहा है हालांकि इसको लेकर खासा विरोध किया जा रहा, कहा जा रहा है कि कैसे कैंडडेट्स परीक्षा केंद्रों तक पहुंचेंगे,इसपर सरकार ने भरोसा दिलाया है कि किसी भी अभ्यर्थी को दिक्कत का सामना नहीं करने दिया जाएगा। वहीं भारतीय रेलवे ने इसको लेकर खास तैयारियां की हैं बिहार में इन एग्जाम में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक आने-जाने की सुविधा हेतु  रेलवे 2 से 15 सितंबर तक स्पेशल ट्रेन चलाएगा।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि बिहार में JEE Mains, NEET और NDA में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा सेंटर तक आने-जाने की सुविधा हेतु भारतीय रेलवे ने 20 जोड़ी MEMU/DEMU स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला लिया है।

साथ ही रेल मंत्री ने कहा कि यह सुविधा नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों को भी दी जाएगी, मंत्री ने इस बारे में ट्वीट कर ये जानकारी दी है।

इससे पहले भारतीय रेलवे जेईई, नीट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों का समर्थन करते हुए उन्हें और उनके अभिभावकों को परीक्षा के दिनों में यात्रा करने की अनुमति दी है। मुंबई के इच्छुक छात्र अब अपने अभिभावकों के साथ परीक्षा की तारीखों पर विशेष उपनगरीय सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। 

परीक्षा के दिन मुम्बई में उपनगरीय ट्रेनों से यात्रा कर सकेंगे अभ्यर्थी

इस दौरान सामान्य यात्रियों से उन्होंने अनुरोध किया है कि वें यात्रा न करें। वहीं जो छात्र परीक्षा में शामिल होंगे, उन्हें इस सेवा का लाभ उठाने के लिए अपना एडमिट कार्ड दिखाना होगा।जेईई, एनईईटी एडमिट कार्ड 2020 के जरिए उपनगरीय स्टेशनों में एंट्री कर सकेंगे, जिसमें परीक्षा की तारीखों पर माता-पिता या फिर अभिभावक शामिल हो सकते हैं। रेल मंत्री, पीयूष गोयल ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर इस खबर की जानकारी दी है। उन्होंने लिखा- नीट और जेईई में उपस्थित होने जा रहे छात्रों को सपोर्ट करते हुए रेलवे ने उन्हें और उनके अभिभावकों को परीक्षा के दिन मुम्बई में विशेष उपनगरीय सेवाओं से यात्रा करने की अनुमति दी है। सामान्य यात्रियों से यात्रा नहीं करने का अनुरोध किया जाता है।

JEE परीक्षाएं दस अलग-अलग शिफ्ट में करवाई जा रही हैं

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए जेईई परीक्षाएं दस अलग-अलग शिफ्ट में करवाई जा रही हैं।नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी एनटीए के महानिदेशक विनीत जोशी ने कहा, "जेईई की परीक्षाएं करवाने के लिए हमने 10 शिफ्ट तय की हैं। हर शिफ्ट के लिए 615 केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षाएं देशभर के 234 शहरों में आयोजित की जा रही हैं। परीक्षाएं सुचारू रूप से चलाने के लिए सिटी कोऑर्डिनेटर बनाए गए हैं। सिटी कोऑर्डिनेटर इलाके की पुलिस एवं प्रशासन के साथ संपर्क में रहेंगे, ताकि परीक्षा केंद्र पर किसी भी प्रकार की भीड़ या अन्य कोई अव्यवस्था न हो।"

जेईई की ही परीक्षा के लिए ऑड-ईवन फार्मूला भी तय

इस फार्मूले के तहत परीक्षा केंद्रो में आने वाले छात्रों को दो पालियों में कंप्यूटर आवंटित किए जाएंगे। इसके साथ ही जेईई और नीट परीक्षाओं के दौरान एक परीक्षा कक्ष में अधिकतम 12 छात्र ही बैठ सकेंगे।पहली शिफ्ट में ऑड नंबर वाले और दूसरी शिफ्ट में ईवन नंबर वाले छात्र कंप्यूटर पर बैठकर परीक्षा देंगे। जेईई परीक्षा के लिए 8.58 लाख छात्रों ने फार्म भरा है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने यह सुनिश्चित किया कि 99 प्रतिशत से अधिक उम्मीदवारों को उनकी पसंद के परीक्षा केंद्र मिले। इन परीक्षाओं के लिए छात्रों को घर के नजदीक परीक्षा केंद्र चुनने का विकल्प दिया गया था। विनीत जोशी ने परीक्षाओं के विषय में जानकारी देते हुए कहा, "जेईई परीक्षा के लिए परीक्षा कें द्रों की संख्या भी 570 से बढ़ाकर 660 कर दी गई है। वहीं नीट के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या 2546 से बढ़ाकर 3843 की गई है।"
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर