सैनिक स्कूलों में 2021-2022 से लागू होगा ओबीसी आरक्षण, 27 फीसदी सीटें होंगी रिजर्व

एजुकेशन
भाषा
Updated Oct 30, 2020 | 23:59 IST

सरकार ने शैक्षणिक सत्र 2021-2022 से अन्य पिछड़ा वर्गों के लिए 27 प्रतिशत सीटें आरक्षित करने का फैसला लिया है। सैनिक स्कूल सोसाइटी देश में ऐसे 33 आवासीय विद्यालयों का प्रबंधन करती है।

सैनिक स्कूलों में 2021-2022 से लागू होगा ओबीसी आरक्षण, 27 फीसदी सीटें होंगी रिजर्व (फाइल फोटो)
सैनिक स्कूलों में 2021-2022 से लागू होगा ओबीसी आरक्षण, 27 फीसदी सीटें होंगी रिजर्व (फाइल फोटो)  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • सैनिक स्कूलों में शैक्षणिक ओबीसी आरक्षण लागू किया जाएगा
  • अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 27 प्रतिशत सीटें आरक्षित रहेंगी
  • सैनिक स्कूल सोसाइटी इन स्‍कूलों का प्रबंधन करती है

नई दिल्ली : रक्षा सचिव अजय कुमार ने शुक्रवार को कहा कि सैनिक स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2021-2022 से अन्य पिछड़ा वर्गों (ओबीसी) के लिए 27 प्रतिशत सीटें आरक्षित रहेंगी। रक्षा मंत्रालय के तहत कार्य करने वाली सैनिक स्कूल सोसाइटी देश में ऐसे 33 आवासीय विद्यालयों का प्रबंधन करती है।

कुमार ने ट्विटर पर कहा, 'वर्ष 2021-22 से सैनिक स्कूलों में ओबीसी आरक्षण लागू किया जाना है।' उन्होंने 13 अक्टूबर के उस परिपत्र की तस्वीर पोस्ट की जो देशभर के सभी सैनिक स्कूलों के प्राचार्यों को भेजा गया था।

परिपत्र में कहा गया है कि किसी सैनिक स्कूल में 67 प्रतिशत सीटें उस राज्य या केंद्रशासित प्रदेश के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं, जिसमें स्कूल स्थित है और शेष 33 प्रतिशत उन लोगों के लिए आरक्षित हैं जो उस राज्य या केंद्रशासित प्रदेश के बाहर से आते हैं। इन दो सूचियों को सूची 'ए' और सूची 'बी' कहा जाएगा।

परिपत्र में कहा गया है कि प्रत्येक सूची में 15 प्रतिशत सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं, 7.5 प्रतिशत सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए हैं और 27 प्रतिशत सीटें गैर-क्रीमी लेयर ओबीसी के लिए हैं। इसमें कहा गया है कि यह आरक्षण नीति शैक्षणिक सत्र 2021-22 से लागू होगी।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर