MP Board Results: कब जारी होंगे 10वीं और 12वीं मध्यप्रदेश बोर्ड परीक्षा के नतीजे, यहां जानिए

Madhya Pradesh Board Exam 10th, 12th Result: मध्यप्रदेश बोर्ड परीक्षा के नतीजे जरूर जारी होंगे और स्थगित की गईं परीक्षाओं का आयोजन भी किया जाएगा। छात्रों को परीक्षा में जनरल प्रमोशन नहीं मिलेगा।

Madhya Pradesh Board Exam 10th and 12th Result
मध्यप्रदेश बोर्ड परीक्षा रिजल्ट (प्रतीकात्मक तस्वीर) 

मुख्य बातें

  • 14 से 15 जून को जारी हो सकते हैं 10वीं मध्यप्रदेश बोर्ड परीक्षा के नतीजे
  • स्थगित की गई 12वीं की परीक्षाओं का भी होगा आयोजन
  • छात्रों को नहीं दिया जाएगा जनरल प्रमोशन, बोर्ड कर रहा मूल्यांकन और परीक्षा की तैयारी

भोपाल: मध्यप्रदेश बोर्ड परीक्षा के नतीजे जल्द घोषित होने वाले हैं। इसके लिए लगातार तैयारियां की जा रही हैंं और बोर्ड के जिन विषयों की परीक्षाएं कोरोना वायरस की वजह से स्थगित हुई थीं, उन्हें भी आयोजित कराया जाएगा। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस बारे में साफ कर दिया था कि माध्यमिक शिक्षा मंडल, मध्य प्रदेश की ओर से आयोजित 10वीं हाई स्कूल एवं 12वीं हायर सेकेंडरी स्कूल परीक्षा का आयोजन हर हाल में किया जाएगा और जो परीक्षाएं रह गई हैं उनमें या फिर मूल्यांकन को नजरअंदाज करके छात्रों को जनरल प्रमोशन दिए जाने का कोई इरादा नहीं है।

इस बार 10वीं और 12वीं के नतीजे अलग-अलग
हालांकि बोर्ड ने इस बारे में कोई बयान जारी नहीं किया है। 12वीं के परिणाम स्थानीय रिपोर्ट के अनुसार जुलाई के महीने में घोषित किए जाएंगे। जो पहले के सालों के तुलना में कुछ अलग होगा जबकि 10वीं के परिणाम पहले की तरह 12वीं के साथ घोषित किए जाने के बजाय अलग से घोषित किए जाएंगे।

10वीं का मूल्यांकन खत्म होने के करीब
MP बोर्ड 10वीं की परीक्षाओं की मूल्यांकन प्रक्रिया अब समाप्त होने वाली है और परिणाम mpbse.nic.in पर जल्द ही जारी किए जाने की उम्मीद है। यहां बता दें कि 10वीं की स्थगित की गईं दो परीक्षाओं को निरस्त कर दिया गया है, मतलब ये परीक्षाएं अब नहीं होगीं और नतीजे 14 से 15 जून को घोषित होने की संभावना है।

12वीं की स्थगित की गई परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा और इसलिए 12वीं के नतीजे जुलाई में घोषित किए जाएंगे। मप्र सरकार ने स्वास्थ्य जोखिम मुक्त और स्वच्छता की स्थिति और इंतजाम के साथ परीक्षा आयोजित करने के लिए व्यवस्थाएं की हैं।

इस साल 1 करोड़ 33 लाख कॉपियों का मूल्यांकन होना है। बोर्ड ने 10वीं के मूल्यांकन का 70 प्रतिशत काम समाप्त कर दिया है और 12 वीं कक्षा के मूल्यांकन का 30 प्रतिशत हो गया है। रद्द किए गए 10वीं के पेपर के लिए स्टूडेंट को अन्य विषयों में उनके प्रदर्शन के आधार पर अंक दिए जाएंगे।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर