Chhath Puja:दिल्ली में सार्वजनिक छठ मनाने को लेकर गर्माई राजनीति, मनोज तिवारी ने लिखा सीएम केजरीवाल को लेटर

दिल्ली समाचार
गौरव श्रीवास्तव
गौरव श्रीवास्तव | कॉरेस्पोंडेंट
Updated Oct 30, 2021 | 22:37 IST

Delhi Chhath Puja Updated News: 29 अक्टूबर को डीडीएमए ने छठ पूजा को लेकर गाइडलाइन जारी की इसके मुताबिक इस साल सार्वजनिक छठ पूजा दिल्ली में यमुना नदी के किनारे बने घाटों पर नहीं की जा सकेगी, इसके बाद से बीजेपी लगातार दिल्ली सरकार को घेर रही है।

Delhi CHHATH PUJA
दिल्ली में छठ पूजा (फाइल फोटो) 

दिल्ली में इस साल सार्वजनिक छठ मनाने को लेकर राजनीति कम होने का नाम नहीं ले रही है, ताजा विवाद डीडीएमए का वो आदेश है जिसमें इस बार यमुना नदी के घाट पर छठ पूजा करने की मनाही कर दी गयी है. इसके बाद बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर घाट पर पूजा की अनुमति देने की मांग की है।

उत्तरपूर्वी दिल्ली से सांसद मनोज तिवारी ने सीएम केजरीवाल को भेजे गए पत्र को ट्विटर पर शेयर करते हुए इस मामले पर अरविंद केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल उठाया है। मनोज तिवारी ने सीएम केजरीवाल से पूछा है कि दिल्ली सरकार ने यमुना किनारे छठ करने के लिए प्रस्ताव डीडीएमए को क्यों नहीं भेजा? तिवारी का आरोप है कि दिल्ली सरकार शुरू से ही छठ पूजा के विरोध में थी। 

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अध्यक्ष दिल्ली के उपराज्यपाल और उपाध्यक्ष मुख्यमंत्री होते हैं, दिल्ली बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मांग कि है कि डीडीएमए में बीजेपी का कोई सदस्य नहीं है ऐसे में छठ पूजा को लेकर एक आपातकालीन बैठक बुलाई जाए जिसमें दिल्ली के सभी सांसद हों ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए।

... लेकिन लग रहा है कि इस बार ऐसी तस्वीर नहीं दिखाई पड़ेगी!

दिल्ली में छठ पूजा की इजाजत को लेकर सड़क पर भी काफी राजनीतिक घमासान हो चुका है। मनोज तिवारी ने इस मुद्दे को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री के घर के बाहर प्रदर्शन भी किया था। उसके बाद ही अरविंद केजरीवाल ने अनुमति दिए जाने की मांग को लेकर उपराज्यपाल को पत्र लिखा था, हालांकि छठ पूजा की 'परमिशन पॉलिटिक्स' पर विवाद थम नहीं रहा है। कोविड से पहले दिल्ली में हर साल बड़ी धूमधाम और आस्था के साथ छठव्रती इकट्ठे होकर यमुना के पानी मे उतरकर सूर्य को अर्घ्य दिया करते थे लेकिन लग रहा है कि इस बार ऐसी तस्वीर नहीं दिखाई पड़ेगी।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर