FASTag: 'कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन' पर इंडिया की 'पहली फास्टैग' आधारित पार्किंग की हुई शुरूआत

कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन स्थित इस विशिष्ट कैशलेस पार्किंग सुविधा के तहत 55 चार-पहिया और 174 दो-पहिया गाड़ियां खड़ी की जा सकती हैं। चार-पहिया गाड़ियों का प्रवेश/निकास तथा पेमेंट फास्टैग के माध्यम से किया जाएगा

Delhi Metro FASTag service,FASTag service, Kashmere Gate station Metro,फास्टैग कैशलेस पार्किंग,दिल्ली मेट्रो, कश्मीरी गेट मेट्रो
पार्किंग शुल्क की अदायगी क्यूआर कोड की स्कैनिंग करते हुए यूपीआई एप्स के द्वारा की जा सकेगी।  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुख्य बातें

  • पार्किंग शुल्क FASTag के माध्यम से काटा जाएगा
  • इससे प्रवेश और भुगतान में लगने वाले समय की बचत होगी
  • दो-पहिया वाहन डीएमआरसी का स्मार्ट कार्ड स्वाइप करने के बाद ही प्रवेश पा सकेंगे

नई दिल्ली: डीएमआरसी ने कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर देश की पहली फास्टैग/ यूपीआई आधारित कैशलेस पार्किंग सुविधा की शुरुआत की है। मल्टी-मॉडल इंटीग्रेशन की पहल के रूप में, स्टेशन पर ऑटो, टैक्सी और ई-रिक्शा के लिए डेडीकेटेड इंटरमीडिएट पब्लिक ट्रांसपोर्ट लेन का उद्घाटन भी किया गया।

डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक डॉ. मंगू सिंह और डीएमआरसी तथा नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में आज यह उद्घाटन हुआ है। पार्किंग शुल्क फास्टैग के माध्यम से काटा जाएगा, जिससे प्रवेश और भुगतान में लगने वाले समय की बचत होगी। इस सुविधा के तहत केवल फास्टटैग वाली गाड़ियों को ही पार्क करने की अनुमति दी जाएगी।

दो-पहिया वाहन डीएमआरसी का स्मार्ट कार्ड स्वाइप करने के बाद ही प्रवेश पा सकेंगे। स्मार्ट कार्ड स्वाइप का इस्तेमाल केवल प्रवेश/निकासी का समय दर्ज करने तथा किराये की गणना के लिए ही किया जाएगा और कार्ड से पैसे की कोई कटौती नहीं की जाएगी।

यह सुविधा डीएमआरसी का एक पायलट प्रोजेक्ट है

पार्किंग शुल्क की अदायगी क्यूआर कोड की स्कैनिंग करते हुए यूपीआई एप्स के द्वारा की जा सकेगी। भविष्य में, ये भुगतान एमआरसी/एनसीएमसी काडरें के माध्यम से भी किया जा सकेगा।यह सुविधा डीएमआरसी का एक पायलट प्रोजेक्ट है। साथ ही, डीएमआरसी दिल्ली-एनसीआर में अन्य पार्किंग सुविधाओं के द्वारा इसी प्रकार की प्रणालियां स्थापित करने की योजना बना रही है।

पहल इस स्टेशन के मल्टी-मॉडल इंटीग्रेशन प्रोजेक्ट का हिस्सा

इसके अलावा, डीएमआरसी के प्रबंध निदेशक ने कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन के गेट नंबर 6 और 8 पर ऑटो, टैक्सी और ई-रिक्शा के लिए डेडीकेटेड इंटरमीडिएट पब्लिक ट्रांसपोर्ट लेनों का उद्धाटन भी किया।इन लेनों से गाड़ियों की आवाजाही सुगम होगी और स्टेशन पर लास्ट माइल कनेक्टिविटी में बढ़ोतरी होगी। यह पहल इस स्टेशन के मल्टी-मॉडल इंटीग्रेशन प्रोजेक्ट का हिस्सा है।

मल्टी-मॉडल इंटीग्रेशन के दूसरे चरण में, डीएमआरसी द्वारा एक फूड कोर्ट (डीटीआईडीसी द्वारा स्थापित किए जाने वाला) और बस-टर्मिनल (3 लेन वाला जिसकी प्रत्येक लेन की क्षमता 5 बसों की होगी) का निर्माण भी किया जाएगा।

आने-जाने वाले दैनिक यात्रियों को बहुत राहत मिलेगी

दूसरा चरण पूरा होने के बाद, कश्मीरी गेट एक ट्रांसपोर्ट-हब बन जाएगा जिसमें पार्किंग सुविधा के साथ लाइन-1, लाइन-2 एवं लाइन-6 की मेट्रो कनेक्टिविटी, आईएसबीटी कश्मीरी गेट और टैक्सी/ ऑटो/ ई-रिक्शा सेवाएं शामिल होंगी। इन सुविधाओं से कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन से आने-जाने वाले दैनिक यात्रियों को बहुत राहत मिलेगी, क्योंकि यह स्टेशन एक प्रमुख आईएसबीटी और आसपास स्थित अनेक कार्यालयों से जुड़ा है। कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन डीएमआरसी का एकमात्र ऐसा स्टेशन है जहां तीन इंटरचेंज स्टेशन हैं और यह मेट्रो नेटवर्क के व्यस्ततम स्टेशनों में से एक है।
 

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर