दिल्ली हाईकोर्ट की केंद्र सरकार को कड़ी फटकार, आप कहते हैं लहर लेकिन ये तो सुनामी है

दिल्ली में ऑक्सीजन की सप्लाई पर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से तीखे सवाल किए। अदालत ने कहा कि आप कहते हैं कि यह लहर लेकिन ये तो सुनामी है।

दिल्ली हाईकोर्ट की केंद्र सरकार को कड़ी फटकार, आप कहते हैं लहर लेकिन ये तो सुनामी है
कोरोना और ऑक्सीजन के मुद्दे पर सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट की कड़ी फटकार 

मुख्य बातें

  • ऑक्सीजन की सप्लाई के मुद्दे पर दिल्ली हाईकोर्ट की कड़ी फटकार
  • अगर कोई भी अधिकारी आपू्र्ति में बाधा बना तो लटका देंगे
  • सरकार कोरोना की दूसरी लहर बता रही है लेकिन हकीकत में ये तो सुनामी है

दिल्ली उच्च न्यायालय ने शनिवार को कहा कि अगर केंद्रीय, राज्य या स्थानीय प्रशासन के किसी अधिकारी ने ऑक्सीजन की आपूर्ति को रोक दिया तो हम उन्हें नहीं छोड़ेंगे। गंभीर रूप से बीमार कोविद मरीजों के लिए ऑक्सीजन की कमी को लेकर अस्पताल की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने यह टिप्पणी की। हर दिन कोविड -19 सकारात्मक रोगियों की बढ़ती संख्या से अभिभूत होकर, पिछले कुछ दिनों में चिकित्सा ऑक्सीजन की कमी को कई अस्पतालों द्वारा झंडी दिखा दी गई है, जिससे भारत में स्वास्थ्य सेवा की तेजी से बढ़ती स्थिति का पता चलता है।

आक्सीजन की कम आपूर्ति पर फटकार
वास्तव में कई अस्पतालों ने ऑक्सीजन एसओएस भेजा है, जो तत्काल आपूर्ति की मांग कर रहे हैं। इससे पहले दिन में, बत्रा अस्पताल, जो 300 कोविड -19 रोगियों का इलाज कर रहा है, ने तत्काल ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए एक एसओएस भेजा, और कहा कि उनके पास केवल 20 मिनट का चिकित्सा ऑक्सीजन बचा था। ऑक्सीजन की कमी से दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल में कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई।

जो लोग बाधा बनेंगे उन्हें लटका देंगे
अदालत ने दिल्ली सरकार से कहा कि वह केंद्र को स्थानीय प्रशासन के ऐसे अधिकारियों के बारे में भी बताए ताकि वह उनके खिलाफ कार्रवाई कर सके। उच्च न्यायालय ने केंद्र से यह भी पूछा कि दिल्ली को आवंटित प्रतिदिन 480 मीट्रिक टन ऑक्सीजन दिन में कब दिखाई देगा। अदालत ने कहा कि आप" केंद्र ने हमें [21 अप्रैल को] आश्वासन दिया था कि 480 मीट्रिक टन प्रतिदिन दिल्ली पहुंचेंगे। हमें बताएं कि यह दिन कब आएगा?

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर