Delhi: बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी कोरोना की वैक्सीन, पहले चरण में 51 लाख लोगों को लगेगा टीका- सत्येंद्र जैन

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि सभी वैक्सीन केंद्रों को अस्पतालों के साथ जोड़ा गया है ताकि वैक्सीन का दुष्प्रभाव पड़ने पर मरीज को तत्काल इलाज दिया जा सके।

Delhi Satyendra Jain says Corona vaccine will be given absolutely free, 51 lakh people will be vaccinated in the first phase
Delhi में बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी कोरोना की वैक्सीन: जैन 

मुख्य बातें

  • दिल्ली में वेंकटेश्वर अस्पताल, जीटीबी अस्पताल और दरियागंज की डिस्पेंसरी में वैक्सीन का ड्राइ रन किया जा रहा है
  • दिल्ली में पहले चरण में करीब 51 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य है- सत्येंद्र जैन
  • स्वास्थ्य मंत्री बोले- दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख लोगों को वैक्सीन लगाने की तैयारी

नई दिल्ली: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अंदर लोगों के लिए दवाइयां और इलाज मुफ्त है, कोरोना वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी। दिल्ली में तीन जगह वेंकटेश्वर अस्पताल, जीटीबी अस्पताल और दरियागंज की डिस्पेंसरी में वैक्सीन का ड्राइ रन किया जा रहा है। दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख लोगों को वैक्सीन लगाने की तैयारी कर चुकी है। वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों दी जाएगी और पहले चरण में 51 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि सभी वैक्सीन केंद्रों को अस्पतालों के साथ जोड़ा गया है, ताकि अगर वैक्सीन का दुष्प्रभाव पड़ता है, तो मरीज को तत्काल इलाज दिया जा सके।

वैक्सीन के लिए एक हजार केंद्र

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दरियागंज स्थित डिस्पेंसरी में किए जा रहे कोविड वैक्सीन के ड्राइ रन का शनिवार को मौका मुआयना किया। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, 'दिल्ली के अंदर आज कोरोना वैक्सीन का ड्राइ रन  किया जा रहा है। मैंने उसका मौका मुआयना किया है। पूरी दिल्ली में वैक्सीन देने की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वैक्सीन के लिए हम दिल्ली में लगभग एक हजार केंद्र तैयार करेंगे। दिल्ली में आज तीन जगह पर ड्राइ रन चल रहा है। दिल्ली के निजी अस्पताल वेंकटेश्वर, दिल्ली सरकार के जीटीबी अस्पताल और दरियागंज स्थित डिस्पेंसरी में ड्राइ रन चल रहा है। मेरे इस दौरे का मकसद यह देखना था कि तीनों तरह के निजी, सरकारी और डिस्पेंसरी में ड्राइ रन का सेटअप किस तरह करना है। तीनों में ड्राइ रन करके देखा जा रहा है। ड्राइ रन का सिस्टम बिल्कुल ठीक बनाया गया है। इसके बारे में मैंने अस्पताल प्रबंधन से सब कुछ पूछा है।

वैक्सीन को लेकर सभी तैयारियां पूरी
स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, 'जब किसी को वैक्सीन दे दी जाएगी, तो उस व्यक्ति को आधे घंटे के लिए निगरानी में रखा जाएगा। सभी वैक्सीन केंद्रों को किसी ना किसी अस्पताल के साथ जोड़ा गया है। कई केंद्र तो खुद अस्पताल में ही बनाए गए हैं। इसके अलावा, जो केंद्र अस्पताल से अलग बनाए गए हैं, उनको किसी न किसी अस्पताल से जोड़ दिया गया है। वैक्सीन देने को लेकर हमारी तैयारियां पूरी हो चुकी है। मुझे लगता है कि दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख तक वैक्सीन लगाने की तैयारी कर चुकी है। हम लोग शुरुआत में वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगाएंगे। इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर जैसे पुलिस, सफाई कर्मचारी, जल बोर्ड के कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई जाएगी। तीसरे नंबर पर 50 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रसित 50 साल से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। दिल्ली में पहले चरण में लगभग 51 लाख लोगों को वैक्सीन दी जाएगी।'
 

10-10 ग्रुप में बैठाया जाएगा
मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अंदर वैसे ही सभी दवाइयां और इलाज मुफ्त है और अब वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी। उन्होंने आगे कहा, 'इसके लिए हमने हर जगह पर निगरानी स्टेशन बनाए हैं। वैक्सीन लगवाने के लिए जो भी लोग आएंगे, उन्हें 10-10 के समूह में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाया जाएगा। वैक्सीन लगने के बाद आधे घंटे तक उनकी निगरानी की जाएगी। अगर किसी को हल्का सा भी सर दर्द होता है या कोई अन्य परेशानी होती है, तो इसके लिए इमरजेंसी रूम भी बनाया है। साथ ही, अस्पताल के साथ लिंक भी किया गया है। जरूरत पड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती किया जाएगा।'

500 से कम केस आने की उम्मीद

दिल्ली में कोरोना की वर्तमान स्थिति के बारे में पूछे जाने पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कल 585 नए केस सामने आए। दिल्ली में सकारात्मकता दर 0.73 प्रतिशत रही और सकारात्मकता दर में लगातार गिरावट आ रही है। हमें उम्मीद है कि बहुत जल्द ही दिल्ली में प्रतिदिन आ रहे नए केस की संख्या भी 500 से कम होने की उम्मीद है। अस्पतालों में बेड की उपलब्धता कम करने के बावजूद अभी भी 10,500-11,000 बेड खाली हैं। वर्तमान में केवल 2000 बेड पर ही मरीज हैं। जहां तक ​​नए स्ट्रेन का सवाल है, दिल्ली में 40 केस का पता लगाया गया है और उन्हें एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके साथ ही 4 निजी अस्पतालों को भी इसके लिए अधिकृत किया गया है। इसे लेकर हम पूरी तरह से गंभीर हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर