दिल्‍ली में कोरोना के बाद अब टिड्डों का संकट, सरकार ने जारी की एडवाइजरी, बंद रखें घरों के खिड़की-दरवाजे

Delhi locust advisory: दिल्‍ली में टिड्डी दलों के हमले को देखते हुए सरकार ने एडवाइजरी जारी की है। इसमें टिड्डी दलों को दूर भगाने के लाउड म्‍यूजिक और डीजे बजाने की सलाह भी दी गई है।

दिल्‍ली में कोरोना के बाद अब टिड्डों का संकट, घरों में बंद रखें खिड़की-दरवाजे
दिल्‍ली में कोरोना के बाद अब टिड्डों का संकट, घरों में बंद रखें खिड़की-दरवाजे 

मुख्य बातें

  • दिल्ली में टिड्डों के हमले को देखते हुए सरकार ने परामर्श जारी किया है
  • लोगों को घरों में खिड़की-दरवाजे बंद रखने और लाउड म्‍यूजिक बजाने की सलाह दी गई है
  • साथ ही रात के समय कीटनाशकों के छिड़काव का परार्श भी दिया गया है

नई दिल्‍ली : कोरोना वायरस संक्रमण से पहले ही बेहाल दिल्‍ली में अब एक और मुसीबत ने दस्‍तक दे डाली है। अब तक राजस्‍थान, मध्‍य प्रदेश, महराष्‍ट्र, गुजरात, उत्‍तर प्रदेश के कुछ ग्रामीण इलाकों में ही मौजूद रहे टिड्डी दलों ने अब देश की राजधानी दिल्‍ली की तरफ रुख कर लिया है, जिसे देखते हुए सरकार ने एडवाइजरी जारी की है। इसमें लोगों को अपने घरों के खिड़की-दरवाजें बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं तो टिड्डों को दूर भगाने के लिए डीजे बजाने की सलाह भी दी गई है।

हाई अलर्ट पर जिला प्रशासन

दिल्‍ली सरकार की ओर से जारी परामर्श में जिला प्रशासन को हाई अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है। साथ ही टिड्डी दलों से बचाव हेतु कीटनाशकों के छिड़काव के लिए अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों से तालमेल बनाए रखने के निर्देश भी दिए गए हैं। साथ ही यह भी कहा गया है कि सभी जिलों में पर्याप्‍त स्‍टाफ की तैनाती की जाए और दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में मुनादी करवा कर लोगों को इस खतरे के बारे में आगाह किया जाए और उन्‍हें इससे बचाव के लिए जरूरी उपाय बताए जाएं।

टिड्डों से बचाव के लिए अपनाएं ये उपाय  

टिड्डी दलों को दूर भगाने के लिए लोगों को उच्‍च ध्‍वनि क्षमता वाले ड्रम बजाने के साथ-साथ बर्तन बजाने और डीजे अथवा म्‍यूजिक सिस्‍टम पर तेज आवाज में संगीत चलाने और पटाखों तथा नीम के पत्‍तों को जलाने की सलाह भी दी गई है। इसके अतिरिक्‍त भी कई अन्‍य सलाह दी गई है, जो इस प्रकार हैं: 

  1. दरवाजे और खिड़कियां बंद रखें।
  2. घरों के बाहर लगाए गए पौधों को प्‍लास्टिक शीट से ढक दें।
  3. टिड्डी दल आम तौर पर दिन में उड़ते हैं और रातों को आराम करते हैं। इसलिए इन्‍हें रातों के समय नहीं ठहरने देना चाहिए।
  4. रात के समय मेलाथिऑन और क्‍लोरोफाइरिफोस का छिड़काव उपयोगी है। इनका छिड़काव करने के दौरान सेफ्टी के लिए पीपीई किट पहन सकते हैं।

'दिल्‍ली बॉर्डर तक पहुंच चुका है टिड्डों का समूह'

इस बीच दिल्‍ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने कहा कि टिड्डों का समूह दिल्‍ली बॉर्डर तक पहुंच चुका है। दक्षिण और पश्चिम जिलों को हाई अलर्ट कर दिया गया है। टिड्डी दलों को नियंत्रित रखने के लिए हमने सभी जिला प्रशासन को एडवाइजरी जारी की है।

यहां उल्‍लेखनीय है कि दिल्‍ली में टिड्डी दलों का प्रकोप हरियाणा बॉर्डर की तरफ से पहुंच रहा है, जिसे देखते हुए दक्षिण दिल्‍ली में हवाईअड्डों पर उड़ानों को लेकर भी अलर्ट जारी किया गया है और पायलटों से उड़ान के दौरान खास सावधानी बरतने को कहा गया है।

अगली खबर