Delhi: फर्जी फर्म खोल खुद को बताते थे बड़ा कपड़ा कारोबारी, फिर लगाते थे मोटा चूना, दिल्ली में यूं की 14 करोड़ की ठगी

Delhi News: गांधी नगर मार्केट के कपड़ा व्यापारियों के साथ ठगी के एक मामले में पुलिस ने तमिलनाडु के तीन ठगों को गिरफ्तार किया है। ये ठग वहां पर फेरी लगाकर कपड़ा बेचते थे और दिल्‍ली के 48 व्‍यापारियों के साथ 14 करोड़ रुपये की ठगी कर ली। इस ठगी में पांच आरोपी शामिल थे। दो को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका।

textile traders fraud
कपड़ा व्‍यापारियों से 14 करोड़ की ठगी करने वाले तीन गिरफ्तार   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • शातिर ठगों ने वर्ष 2020 में व्‍यापारियों से की थी ठगी
  • गांधी नगर के 48 व्‍यापारियों के साथ की 14 करोड़ की ठगी
  • लगाते थे कपड़ों की फेरी और खोलना चाहते थे खुद का शोरूम

Delhi News: दिल्‍ली के गांधी नगर मार्केट के कपड़ा व्यापारियों के साथ ठगी का एक बड़ा मामला सामने आया है। तमिलनाडु के तीन शातिर ठगों ने कपड़ा खरीद के नाम पर यहां के व्‍यापारियों के साथ करीब 14 करोड़ की ठगी कर ली। इस मामले में दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों की पहचान तमिलनाडु के कृष्णागिरी निवासी रवि चेट्टी, टी वेंकटेश और वेंकटरमन के रूप में की है।

पुलिस के अनुसार इन शातिर ठगों ने इस बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए दो फर्जी फर्म खोली। इसके बाद तमिलनाडु का बड़ा कपड़ा व्‍यापारी बनकर दिल्‍ली पहुंचे। यहां के व्यापारियों से सौदा तय कर उन्‍हें पोस्ट डेटेड चेक थमाया और करोड़ों रुपये का कपड़ा लेकर फरार हो गए। व्‍यापारियों को ठगी का एहसास तब हुआ, जब वे चेक कैश कराने पहुंचे। पुलिस करोड़ों रुपये की इस ठगी मामले में दो आरोपितों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं ये तीन आरोपी लंबे समय से फरार थे।

आरोपी कृष्णा गिरी जिले में कपड़ा बेचने के लिए लगाते हैं फेरी

दिल्‍ली पुलिस के अनुसार गांधीनगर में कपड़े का कारोबार करने वाले मनोज कुमार ने वर्ष 2020 में आर्थिक अपराध शाखा में धोखाधड़ी और ठगी की शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें उन्‍होंने बताया कि कमीशन एजेंट रमन कुमार अपने साथ चार लोगों को लेकर आया था। जिन्‍होंने खुद को कामाची ट्रेडर्स के शिव कुमार और हनुमान ट्रेडिंग कंपनी के साथिल कुमार, रवि चेट्टी, वेंकटेश और रामजी बताया था। रमन ने इन लोगों को दक्षिण भारत का बड़ा कारोबारी बताकर कपड़ा खरीदने की बात कही। उन लोगों ने रेडीमेड कपड़ों के स्टॉक को उधार देने का अनुरोध किया और इसकी भुगतान डिलीवरी के 60 दिनों के भीतर करने की बात कही।

सौदा तय होने के बाद कपड़ा बताए गए जगह पर पहुंचा दिया गया। लेकिन जब उनके द्वारा दिया गया चेक लगाया गया तो वो बाउंस हो गया। इसके बाद से सभी आरोपी फरार थे। बाद में पता चला कि इन आरोपियों ने मार्केट के 48 कारोबारियों से इसी तरह से करीब 14 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की है। इस मामले में पुलिस रमन और सुंदर राजन को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी। इंस्पेक्टर नवीन दहिया ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि ये आरोपित तमिलनाडु के कृष्णा गिरी जिले में फेरी पर कपड़े बेचते थे और खुद का शोरूम खोलने के लिए यह ठगी की।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर