Delhi: यह है देश का सबसे बड़ा वाहन चोर, कहते हैं चोरों का गुरु, 8000 चोरियां और 181 मामले दर्ज होने का रिकॉर्ड

Delhi Crime: दिल्‍ली पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। स्‍पेशल स्‍टाफ ने देश के सबसे बड़े वाहन चोर के रूप में कुख्‍यात मोस्‍ट वांटेड अनिल चौहान को दबोच लिया है। इस आरोपी के खिलाफ देश के कई राज्यों में 181 आपराधिक मामले दर्ज हैं। खास बात यह है कि इसमें से 146 मामले अकेले दिल्ली में ही दर्ज हैं।

most wanted thief arrested
पुलिस के गिरफ्त में कुख्‍यात मोस्‍ट वांटेड अनिल चौहान  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • इस शातिर पर सिर्फ दिल्‍ली में ही 146 मामले हैं दर्ज
  • आरोपी हथियार और गैंडे के सींग की भी करता है तस्करी
  • ईडी 2015 में कर चुकी इस शातिर की सारी संपत्ति को जब्‍त

Delhi Crime: दिल्‍ली की मध्य जिले पुलिस के स्पेशल स्टाफ ने देश के सबसे बड़े वाहन चोर को गिरफ्तार किया है। इसे चोरों का गुरु भी माना जाता है। उसके खिलाफ देश के कई राज्यों में 181 आपराधिक मामले दर्ज हैं। खास बात यह है कि इसमें से 146 मामले अकेले दिल्ली में ही दर्ज हैं। वहीं माना जाता है कि, यह अब तक 8,000 वाहनों को चोरी कर बेच चुका है। यह कुख्‍यात व मोस्‍ट वांटेड चोर न केवल अपने गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर विभिन्न राज्यों से वाहन चोरी करता था, बल्कि दिल्ली-एनसीआर समेत अन्‍य राज्‍यों से चोरी हुए वाहनों को बांग्लादेश, नेपाल व पूर्वोत्तर के राज्यों में बेचता भी था।

डीसीपी मध्य जिला श्वेता चौहान के मुताबिक गिरफ्तार वाहन चोर का नाम अनिल चौहान है। वह मूलरूप से असम का रहने वाला है और यहां खानपुर एक्सटेंशन, दिल्ली में भी इसका घर है। आपराधिक वारदातों में लिप्त होने के कारण उसने सालों से अपना ठिकाना सोनितपुर तेजपुर, असम में बना रखा है। यह आरोपी हथियार और गैंडे के सींग की तस्करी भी करता है। पुलिस के अनुसार यह, इस कुख्‍यात चोर को असम पुलिस ने वर्ष 2015 में तत्कालीन विधायक के साथ गिरफ्तार किया था। जिसके बाद ईडी ने भी इसके खिलाफ मामला दर्ज कर इसकी सारी संपत्ति को जब्त कर ली थी। अपने राजनीतिक पहुंच की वजह से आरोपी अनिल असम का क्लास वन सरकारी कांट्रेक्टर भी रह चुका है।

यह शातिर 25 साल से कर रहा चोरी, चोरी के दौरान नहीं पकड़ गया कभी

दिल्‍ली पुलिस के अनुसार, आरोपी अनिल ने दिल्ली से 12वीं तक की पढ़ाई की है। इसने 1998 में वाहन चोरी करना शुरू किया। इसकी तीन पत्नियां और सात बच्चे हैं। इसे कई राज्यों की पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है, लेकिन यह जमानत पर छूटने के बाद फिर से चोरी शुरू कर देता था। यह आरोपी करीब 25 साल से वाहन चोरी कर रहा है, जिसके कारण इसे वाहन चोर अपना गुरु भी कहते हैं। इस शातिर को गाड़ियों की नकली चाबियां बनाने में महारत हासिल है। जब वाहनों में रिमोर्ट वाली चाबी आने लगी तो इसने स्कैनर के जरिए रिमोर्ट बनाना भी सीख लिया। इस शातिर के बारे कहा जाता है गाड़ी चोरी करने के बाद आज तक किसी भी राज्‍य की पुलिस इसका पीछा कर नहीं पकड़ पाई। पीछा करने के क्रम में यह कई बार पुलिस के वाहनों में टक्कर मार चुका है। इस आरोपी के निशानदेही पर पुलिस ने छह पिस्टल, सात कारतूस, एक बाइक व एक कार बरामद की है।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर