छठ पूजा पर भाजपा और केजरीवाल सरकार में टकराव, मनीष सिसोदिया बोले 800 से ज्‍यादा जगह मनाया जा रहा ये पर्व

दिल्ली समाचार
पुलकित नागर
पुलकित नागर | SPECIAL CORRESPONDENT
Updated Nov 08, 2021 | 20:09 IST

राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में छठ पूजा के आयोजन को लेकर सत्‍तारूढ़ आम आदमी पार्टी और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के बीच ठन गई है। डिप्‍टी सीएम मनीष सिसोदिया ने दिल्‍ली में 800 से अधिक स्‍थानों पर छठ पूजा के आयोजन की बात कही है तो बीजेपी ने यमुना में गंदगी का मसला उठाकर दिल्‍ली सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

छठ पूजा को लेकर आमने-सामने आप-बीजेपी
छठ पूजा को लेकर आमने-सामने आप-बीजेपी  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्‍ली : दिल्ली में छठ पूजा पर जमकर राजनीति हो रही है। भाजपा और AAP दोनों छठ पूजा मनाए जाने को लेकर एक-दूसरे को घेरने में लगी है। सोमवार देर शाम दिल्ली के डिप्टी सीएम ने कहा कि दिल्ली में 800 से भी ज्‍यादा जगह धूमधाम से छठ पूजा मनाई जाएगी।

मनीष सिसोदिया ने कहा, 'दिल्ली में छठ पूजा धूमधाम से मनाने का फैसला किया गया है और धूमधाम से मनाई जा रही है। आपको याद होगा 2015 तक दिल्ली में छठ की पूजा के लिए केवल 80 या 90 घाट बनाए जाते थे और उनमें भी आम जनता के लिए जगह नहीं थी, बल्कि बीजेपी या कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की समितियों के लिए ही जगह होती थी। जब केजरीवाल जी के नेतृत्‍व में आम आदमी पार्टी की सरकार आई, आम लोगों की सरकार आई, तो सब लोगों को यह हक मिला कि वे भी सरकार के सहयोग से छठ पूजा का आयोजन कर सकते हैं।'

'पूरे देश में कहीं ऐसी व्यवस्था नहीं'

दिल्ली में छठ पूजा होगी या नहीं, होगी तो कहां होगी और कितनी जगह पर होगी, इसे लेकर भाजपा और AAP के बीच शुरू से ही राजनैतिक टकराव चल रहा है। इसलिए मनीष सिसोदिया ने यह भी कहा, 'आज दिल्ली के अलग-अलग मोहल्लों में 800 से ज्यादा घाट बनाकर बहुत भव्य तरीके से छठ पूजा दिल्ली सरकार करवा रही है। सरकार ने केवल घाट नहीं बनाए, बल्कि टेंट भी लगवाया। कुर्सी, टेबल, माइक की भी व्यवस्था की है। शायद पूरे देश में कहीं ऐसी व्यवस्था नहीं की जा सकती, जैसी दिल्ली में की जाती है, क्योंकि दिल्ली सब की है और पूर्वांचल के लोग दिल्ली में बड़ी संख्या में रहते हैं। बहुत खुशी के साथ में बता रहा हूं कि 800 से ज्‍यादा घाट पर दिल्ली सरकार की ओर से इस साल भी छठ मनाने की व्यवस्था की गई है। जब आप छठ मनाने जाएं तो सावधानी के साथ जाएं। कोरोना कम हुआ है, लेकिन कहीं गया नहीं है। बहुत भव्यता और दिव्यता के साथ छठ मनाना है। छठी मैया सब पर अपनी कृपा करें।'

बीजेपी ने उठाया सवाल

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ये तो साफ कर दिया की दिल्ली में 800 से ज्‍यादा जगह छठ मनाई जाएगी, लेकिन भाजपा के सांसद प्रवेश वर्मा लगातार ये सवाल उठा रहे हैं कि यमुना किनारे छठ मनाने की इजाज़त क्यों नहीं दी जा रही? प्रवेश वर्मा ने छठ पूजा को प्रदूषित यमुना से जोड़कर घेरा। उन्‍होंने कहा, 'यमुना प्रदूषित है, इस लिए केजरीवाल सरकार छठ पूजा यमुना किनारे मनाने की इजाजत नहीं दे रही। अगर लोग यहां आकर पूजा करेंगे तो उन्हें दिखेगा कि यमुना की सफाई को लेकर कुछ नहीं किया गया। मैं खुद भी केजरीवाल के इस गंदे पानी में नहीं नहाऊंगा। हम आईटीओ पर मौजूद यमुना घाट को साफ़ करेंगे।'

हरियाणा पर ठीकरा

भाजपा के सांसद प्रवेश वर्मा के आरोपों पर केजरीवाल सरकार के मंत्री गोपाल राय ने टाइम्स नाउ नवभारत से खास बातचीत में इसके लिए भाजपा की हरियाणा सरकार को हो जिम्‍मेदार ठहरा दिया। उन्‍होंने कहा, 'यमुना की प्रदूषण वाली जो तस्वीर आज दिख रही है वो हरियाणा की वजह से है। हरियाणा में मौजूद भाजपा की सरकार ने गंदा पानी हरियाणा से छोड़ा है, जिसकी वजह से यमुना में प्रदूषण दिख रहा है। थोड़े दिन पहले यमुना में ये हालात नहीं थे।'

सियासत में उलझी बीजेपी-आप

साफ है कि छठ पूजा पर ये राजनैतिक उठापटक नई नहीं है। इसकी वजह भी साफ है कि दिल्ली में जल्द ही एमसीडी के चुनाव होने हैं और पूर्वांचल का वोट इन चुनावों में बड़ी भूमिका निभाता है। यही वजह है सभी राजनैतिक दल इस वोट बैंक को अपने-अपने तरीके से प्रभावित करने में लगे हैं।
 

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर