Delhi Crime News: ज्वैलर बन गया लुटेरा, एक टैटू ने ऐसे कर दिया लूट की इस बड़ी वारदात का पर्दाफाश

Delhi News: करोलबाग में एक नामी ज्‍वैलर के शोरूम से 2.12 करोड़ रुपये के आभूषण चोरी करने वाले को पुलिस ने दबोच लिया है। जांच में पता चला है कि इसका पहले खुद का ज्‍वैलरी का कारोबार था, लेकिन पार्टनर द्वारा चार करोड़ रुपये लेकर कनाडा भाग जाने के बाद यह घाटे में आ गया और इसके लिए चोरी कर ली।

Vicious arrest by Delhi Police
करोड़ों की ज्‍वेलरी लूटने वाला आरोपी गिरफ्तार   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • आरोपी पहले खुद करता था करोल बाग में ज्‍वैलरी का कारोबार
  • पार्टनर द्वारा धोखा मिलने के बाद कर्ज निपटाने के लिए की चोरी
  • चोरी के बाद आरोपी अमृतसर जाकर छुपा था, वहीं पर पुलिस ने दबोचा

Delhi News: ज्‍वैलरी के कारोबार में करोड़ों का नुकसान होने के बाद दिल्‍ली का एक ज्वैलर ऐसा लुटेरा बन की उसने एक ही झटके में करोड़ों रुपये की चोरी कर डाली। इस आरोपी ने करोलबाग के नामी ज्वैलर के यहां से 2.12 करोड़ रुपये के आभूषण चोरी करने की वारदात को बेहद शातिर तरीके से अंजाम देने के बाद फरार हो गया। घटना के बाद आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस को एक टैटू ने इस लुटेरे को दबोचने में सबसे बड़ी मदद की। आरोपित के हाथ पर बने टैटू की मदद से पुलिस आरोपी का पीछा करते हुए पंजाब के अमृतसर तक पहुंच गई।

पुलिस से घिरा देख आरोपी ने वहां से भी भागने का प्रयास किया। इसके बाद पुलिस टीम ने आरोपित का करीब 40 किलोमीटर तक पीछा कर दबोच लिया। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपित की पहचान दिल्‍ली के कर्मपुरा के रहने वाले विक्रांत गौरव के रूप में की है। उसके पास से पुलिस ने चोरी के आभूषण भी बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया कि आरोपित से पूछताछ में पता चला है कि वह पहले खुद करोलबाग में आभूषण का कारोबार करता था। इस कारोबार में उसका साझेदार उसके चार करोड़ रुपये लेकर कनाडा भाग गया। जिसके कारण उसपर काफी कर्ज आ गया था। इसलिए चोरी की इस वारदात को अंजाम दिया।

करीब 500 दुकानदारों को टैटू दिखाने पर हुई आरोपी की पहचान

मध्य जिले की डीसीपी श्वेता चौहान ने बताया कि इस आरोपी ने 24 जुलाई को लाल ओमप्रकाश ज्वेलर्स के यहां आभूषण खरीदने के बहाने मुंह पर मास्क लगाकर आया था। शोरूम के कर्मचारियों को अपनी बातों में उलझा यह 2.12 करोड़ रुपये के आभूषण लेकर फरार हो गया। पुलिस जांच के दौरान आरोपित के हाथ पर एक टैटू मिला। उस पर अंग्रेजी में रासराज लिखा हुआ था। पुलिस ने इस टैटू के आधार पर जांच शुरू की और करीब 500 दुकानदारों को टैटू दिखाने के बाद आरोपित की पहचान विक्रांत गौरव के रूप में हुई। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी का मोबाइल नंबर पता कर ट्रेस किया तो लोकेशन अमृतसर की आई। जब टीम वहां पकड़ने के लिए पहुंची तो आरोपी पुलिस को देखते ही कार लेकर भागने लगा। जिसे पुलिस टीम ने 40 किलोमीटर पीछा करके दबोचा। आरोपी की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी किए गए सारे आभूषण बरामद कर लिए हैं।

Delhi News in Hindi (दिल्ली न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर