Delhi Crime News: फाइव स्टार होटल का शेफ जब बन गया चेन स्नैचर, यह है वजह

क्राइम
मोहित ओम
मोहित ओम | Senior correspondent
Updated Sep 22, 2021 | 10:47 IST

ऑनलाइन गैंबलिंग एप "सट्टा किंग" में जुआ खेलकर कर्ज में डूबने पर एक फाइव स्टार होटल का शेफ चेन स्नैचर बन गया, हालांकि अब वो दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में है।

Delhi, Crime, crime news, five star hotel chef, chain snatcher, delhi police
फाइव स्टार होटल का शेफ जब बन गया चेन स्नैचर, यह है वजह 

मुख्य बातें

  • फाइव स्टार होटल का शेफ बना चेन स्नैचर
  • ऑनलाइन गैंबलिंग की वजह से था भारी कर्ज
  • कर्ज चुकाने के लिए चेन स्नैचिंग करने लगा

दिल्ली पुलिस ने हरीश उर्फ मोनू नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है। वो दिल्ली के नामी फाइव स्टार होटल में शेफ का काम करता है। लेकिन वो चेन स्नैचर बन गया। फिलहाल वो दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में है। वो शेफ से  कैसे स्नैचर बन गया कहानी दिलचस्प है। हरीश दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट है। पूसा रोड के नामी होटल मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट से होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद दिल्ली के नामी पांच सितारा होटल में शेफ की अच्छी खासी नौकरी कर रहा था। लेकिन ज्यादा पैसे कमाने की चाह में इसने ऑनलाइन गैंबलिंग एप पर जुआ खेलना शुरू कर दिया।

हरीश को पहले तो कामयाबी हाथ लगी लेकिन बाद में लगतार हारने लगा और जुए की लत की वजह से कर्जदार बन गया। कर्ज निपटाने के लिए इसने आम लोगो को अपना निशाना बना शुरू कर दिया और उनसे मोबाइल फोन और गोल्ड चेन लूटने लगा। पुलिस को इसकी गिरफ्तारी में महीनों तक कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। सैकड़ों सीसीटीवी की फुटेज को खंगाले जाने के बाद यह लुटेरा शेफ दिल्ली पुलिस की रडार में आया। 

कैसे हुई गिरफ्तारी

पिछले कुछ महीनों से दिल्ली पुलिस को साकेत मेट्रो स्टेशन, MB रोड स्थित अम्बेडकर नगर बस  स्टैंड पर सुबह और शाम के स्नैचिंग की काफी कॉल मिल रही थी। पुलिस ने इन जगहों पर सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो उनके सर्विलांस में पतली कद काठी का एक शख्स कई बार नजर आया पुलिस ने इस शख्स के बारे में छानबीन शुरू की तो पता लगा इस संगम विहार का रहने वाला हरीश है जो पेशे से एक शेफ है। पुलिस को इनपुट मिला हरीश सोमवार की शाम MB रोड के एसडीएम ऑफिस के पास जंगल की तरफ से आएगा।

पुलिस ने वहां पर ट्रैप लगाया और और इसके वहां पहुंचने पर जब पुलिस ने उसको पकड़ने की कोशिश की उसने अपनी देसी पिस्तौल से पुलिस के ऊपर फायरिंग की लेकिन पुलिस के जवान सचेत थे उन्होंने हरीश को दबोच लिया। पुलिस ने बताया कि हरीश जब भी लूटपाट की घटना को अंजाम देने के लिए निकलता था अपने साथ एक देसी पिस्तौल रखता था यह हमेशा अकेले ही लोगों को शिकार बना था और जब स्नैचिंग करता तो उसके बाद खुद ही भीड़ में मिलकर पकड़ो पकड़ो और चोर चोर चिल्ला कर पब्लिक के साथ भागता और वहां से फिर फरार हो जाता।

इसकी गिरफ्तारी से पुलिस ने झपटमारी के करीब 14 मुकद्दमे सुलझाएं हैं । इसके पास से पुलिस को चोरी के 4 मोबाइल फोन, 4 सोने की चेन करीब 4 तोले सोने के आभूषण,  एक देसी पिस्तौल और जिंदा कारतूस बरामद हुआ है। पुलिस को पुलिस को पता चला कि अपना चोरी का सामान संगम विहार के रहने वाले हैं एक राजेंद्र अग्रवाल नाम के शख्स को बेचता है पुलिस ने राजेंद्र अग्रवाल को भी गिरफ्तार किया है जो संगम विहार इलाके में गोल्ड स्मिथ दुकान चलाता है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर