Opinion India Ka: जब आर्यन के वकील कोर्ट में बोले- उन्हें शिप में ड्रग्स बेचने की जरूरत नहीं, चाहे तो पूरी शिप खरीद सकते हैं 

क्रूज पर ड्रग्स केस में फंसे शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान सात अक्टूबर तक एनसीबी की कस्टडी में रहेंगे। एनसीबी से पूछताछ में आर्यन को लेकर कई अहम खुलासे हुए हैं।

Aryan Khan's lawyer said in court  he does not need to sell drugs in the ship, if he wants, he can buy the whole ship
'आर्यन को ड्रग्स बेचने की जरूरत नहीं, वो शिप खरीद सकते हैं'  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • एनसीबी को मिली है आर्यन खान की 7 अक्टूबर तक की कस्टडी
  • आर्यन के वकील सतीश मानशिंदे ने कोर्ट में की जोरदार जिरह
  • एनसीबी पूछताछ में आर्यन खान को लेकर हो रहे हैं बड़े खुलासे

नई दिल्ली: 60 घंटे पहले 24 साल के आर्यन खान की इकलौती पहचान किंग खान के बेटे के थी लेकिन ड्रग्स कनेक्शन की पोथी खुली तो बिल्कुल नई पहचान मिल गई। आर्यन खान पर एनसीबी के खुलासे चौंकाने वाले हैं। कोर्ट में पेशी के दौरान एनसीबी ने दावा किया कि आर्यन के फोन में आपत्तिजनक तस्वीर मिली हैं। आर्यन करीब 4 साल से ड्रग्स सेवन कर रहे थे। व्हाट्सएप चैट में पैसों की लेनदेन का खुलासा हुआ है। और चैट में सामने आया है कि उन्होंने बैंक ट्रांजैक्शन के लिए कैश की मांग की।

देश से बाहर भी किया ड्रग्स का सेवन

 इतना ही नहीं देश से बाहर यूके, दुबई में भी आर्यन ने ड्रग्स का सेवन किया। आरोप अपनी जगह लेकिन शाहरुख के पुराने साथी उनके बचाव में उतर आए हैं। सलमान ने घर पहुंचकर रणनीति बनाई तो सुनील शेट्टी खुलेतौर पर आर्यन के बचाव में उतर आए। लेकिन सवाल सिर्फ आर्यन के ड्रग्स रैकेट में फँसने का नहीं है। सवाल ये है कि क्यों आर्यन के चार साल से ड्रग्स लेने के बावजूद शाहरुख और उनके परिवार को इसकी भनक नहीं लगी ? क्या बॉलीवुड के बच्चों को ड्रग्स इतनी आसानी से मुहैया हो जाती है कि वो कभी भी कैसे भी ड्रग्स का सेवन करने में सहज हो चले हैं। क्या मुंबई में ड्रग्स के ऐसे रैकेट चल रहे हैं, जिनके निशाने पर सिर्फ और सिर्फ फिल्मी हस्तियां हैं ?

कोर्ट में हुई तीखी जिरह

आज एनसीबी ने कोर्ट में आर्यन खान को जमानत देने का विरोध किया। कोर्ट में ऑर्यन के वकील और एनसीबी के वकील के बीच जोरदार बहस हुई। हम आपको बताते हैं- जमानत का विरोध करते हुए एनसीबी ने क्या  कहा और आर्यन के वकील ने इसका क्या काट निकाला। एनसीबी ने कहा-  चैट्स में कई कोड नेम पाए गए हैं  और उसका पता लगाने के लिए कस्टडी की जरूरत होगी। एनसीबी ने आगे कहा- लिंक और नेक्सस को उजागर करने के लिए हिरासत की बढ़ाई जाए।

आर्यन के वकील मानशिंदे ने दिया ऐसा जवाब

एनसीबी की बहस के बाद इसपर आर्यन खान के वकील सतीश मानशिंदे ने जवाब दिया और कहा कि अगर आर्यन खान का केस गैर-जमानती है, तो उसके एनसीबी ठोस सबूत और तथ्य जारी करने होंगे। सतीश मानशिंदे ने दलील दी दूसरों के पास से मिले ड्रग्स को आर्यन खान से मिला नहीं माना जा सकता है। ड्रग्स चैट पर सतीश मानशिंदे के कहा- 'वो आर्यन खान पर बेहद गंभीर आरोप लगा रहे हैं. कोर्ट चैट्स को खुद देख सकता है। ऐसी कोई बात उनमें नहीं हुई है। वकील सतीश मानशिंदे ने ये भी कहा कि आर्यन खान को शिप में ड्रग्स बेचने की जरूरत नहीं, चाहे तो पूरी शिप खरीद सकते हैं।' 

शाहरुख की ब्रांड वैल्यू पर असर 

सवाल उठता है कि क्या शाहरूख खान के बेटे ऑर्यन के ड्रग्स  कनेक्शन के खुलासे से किंग खान के इमेज पर असर पड़ेगा। ये समझने के लिए आपको शाहरूख के एक ब्रैंड के रूप में शोहरत की जानकारी लेनी चाहिए। दरअसल मल्टीनेशनल कंसल्टेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक,फिलहाल शाहरुख खान की ब्रांड वैल्यू करीब 378 करोड़ रुपए है। एक्सपर्ट के मुताबिक वो हर विज्ञापन के लिए 3.5 से 4 करोड़ रूपए लेते हैं। ब्रांड वैल्यू के मामले में भारत में उनका स्थान चौथे नंबर पर है। इस लिस्ट में सबसे ऊपर विराट कोहली हैं। शाहरूख खान कई नामी कंपनियों के ब्रांड एंबेसडर हैं और उन्होंने हाल के दिनों में सोशल मीडिया में अपना प्रभाव भी बढ़ाया है। इसी रिपोर्ट के मुताबिक साल 2020 में उनके हर सोशल मीडिया पोस्ट को 10 लाख से ज्यादा लोगों ने कमेंट, लाइक या शेयर किया।

सर्वे में लोगों ने कही थी ये बात

अब सवाल ये है आर्यन खान की ड्रग्स केस में गिरफ्तारी का बड़ा नुकसान शाहरुख खान के ब्रांड वैल्यू पर होगा। इसका जवाब जानने के लिए हमने
रिसर्च किया तो पाया कि सितंबर 2020 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ ह्यूमन ब्रांड्स की रिपोर्ट के मुताबिक 85% उपभोक्ताओं ने सर्वे में कहा कि वो सामान नहीं खरीदेंगे जिसका एड ड्रग्स कनेक्शन में फंसे सेलीब्रिटी ने किया है। हमने इसको समझने के लिए ड्रग्स केस में फंसी दीपिका पादुकोण के ब्रांड वैल्यू  का आंकलन किया। 2019 में दीपिका पादुकोण की ब्रांड वैल्यू करीब 93.5 million डॉलर की थी। जो 2020 में घटकर 50.4 million रह गई। यानी सिर्फ एक साल में उन्हें करीब 300 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा। हालांकि ब्रांड वैल्यू में इस गिरावट की वजह कई और भी हो सकती हैं लेकिन जानकार मानते हैं कि दीपिका का ड्रग्स केस में नाम आना बड़ी वजह रही है।


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर