कोलकाता में शूटआउट, पंजाब के 2 गैंगस्टर हुए ढेर, एक पर 10 तो दूसरे पर था 5 लाख का इनाम

क्राइम
Updated Jun 09, 2021 | 21:21 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

कोलकाता के न्यू टाउन एरिया में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में पंजाब के 2 गैंगस्टर मारे गए हैं। एक पर 10 लाख तो दूसरे पर 5 लाख रुपए का इनाम रखा गया था।

kolkata
कोलकाता की एक बिल्डिंग में हुई मुठभेड़ 

मुख्य बातें

  • कोलकाता के न्यू टाउन इलाके में सपूरजी पालनजी परिसर में मुठभेड़ हुई
  • एसटीएफ ने फ्लैट से पांच ऑटोमैटिक पिस्टल और 89 जिंदा कारतूस बरामद किए
  • अधिकारियों ने कहा कि बुधवार को मुठभेड़ के दौरान एक पुलिस अधिकारी घायल हो गया

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल के कोलकाता में न्यू टाउन इलाके में पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में गैंगस्टर जयपाल भुल्लर और उसके सहयोगी जसप्रीत खरार ढेर हो गए हैं। पंजाब पुलिस और एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) ने दो खूंखार अपराधियों को बाहर निकालने के लिए संयुक्त अभियान चलाया था। अधिकारियों के मुताबिक, जयपाल भुल्लर पंजाब पुलिस की मोस्ट वांटेड अपराधियों की सूची में शामिल था। भुल्लर के खिलाफ पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली के पुलिस थानों में 50 से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। जयपाल पर पंजाब पुलिस ने 10 लाख रुपए का इनाम घोषित किया था, जबकि जसप्रीत के सिर पर 5 लाख रुपए का इनाम था।

वीके गोयल, एडीजी, बंगाल एसटीएफ ने बताया, 'हमें सूचना मिली थी कि यहां कुछ अपराधी ठहरे हुए हैं। जब हम छापेमारी के लिए आए तो हमें जसप्रीत और जयपाल मिले, जो पंजाब में कई मामलों में वांटेड हैं। हमने उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने विरोध किया और हम पर गोलियां चला दीं। जवाबी कार्रवाई में हमने भी फायरिंग की और वे मारे गए। एक इंस्पेक्टर को घायल होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों (जसप्रीत और जयपाल) पर क्रमशः 5 लाख रुपए और 10 लाख रुपए का इनाम था। वे हत्या और बैंक डकैती सहित कई मामलों में शामिल थे। उनसे 7 लाख रुपए नकद, 5 हथियार, 89 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं।' 

उन्होंने बताया कि उन पर (जसप्रीत और जयपाल) पिछले हफ्ते पंजाब में दो एएसआई की हत्या करने का आरोप है। वे डकैती सहित अन्य अपराधों में शामिल थे। पंजाब पुलिस ने उनकी पहचान की पुष्टि की है। पंजाब पुलिस की एक टीम यहां पहुंच गई है।

ये मुठभेड़ बुधवार को कोलकाता के न्यू टाउन इलाके के सपूरजी पालनजी परिसर में हुई। रैपिड एक्शन फोर्स (RAF) के जवानों समेत इलाके में पुलिस की बढ़ी तैनाती देखी गई। बिधाननगर के पुलिस आयुक्त, अतिरिक्त महानिदेशक (एसटीएफ) और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को भी मुठभेड़ स्थल पर देखा गया।  

एक गुप्त सूचना मिली कि हथियार डीलर फ्लैट बी-154 में छिपे हुए थे, जिसके बाद एसटीएफ की टीम न्यू टाउन इलाके के आवासीय परिसर में गई। तलाशी अभियान के दौरान दोनों अपराधियों ने एसटीएफ और पंजाब पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी फायरिंग में गैंगस्टर जयपाल भुल्लर और उसका सहयोगी जस्सी खरार दोनों मारे गए।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर