Uttar Pradesh News: सेना के रिटायर्ड अधिकारी ने संपत्ति विवाद को लेकर पिता-भाई की गोली मारकर की हत्या, बाद में किया सरेंडर

Uttar Pradesh News: घटना के कुछ घंटे बाद आरोपी लाइसेंसी पिस्टल के साथ कप्तानगंज थाने पहुंचा और सरेंडर कर दिया। आजमगढ़ के सर्कल ऑफिसर ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की आगे की जांच जारी है। 

Uttar Pradesh Retired army officer shot and killed father brother over property dispute later surrender
संपत्ति विवाद को लेकर पिता-भाई की गोली मारकर हत्या। (सांकेतिक फोटो)   |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • पिता-भाई की हत्या करने के आरोप में सेना का रिटायर्ड अधिकारी गिरफ्तारी
  • संपत्ति विवाद को लेकर सेना के रिटायर्ड अधिकारी ने दोनों को मारी गोली
  • रिटायर्ड अधिकारी ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से दोनों को मारी गोली

Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश में संपत्ति विवाद पर बहस के बाद अपने पिता और भाई की गोली मारकर हत्या करने के आरोप में सेना के एक रिटायर्ड अधिकारी को गिरफ्तार किया गया है। घटना मंगलवार की रात आजमगढ़ जिले के कप्तानगंज क्षेत्र के धनधारी गांव की है। आरोपी की पहचान 45 साल के मनोज कुमार सिंह के रूप में हुई है, जबकि मृतकों की पहचान 70 साल के शिवनारायण और 30 साल के मनीष सिंह के रूप में हुई है।

पिता-भाई की हत्या के आरोप में सेना का रिटायर्ड अधिकारी गिरफ्तार

द इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक मनोज ने अपने पिता शिवनारायण से उनकी संपत्ति की डिटेल और खेती से प्राप्त धन के बारे में पूछा। थोड़ी देर बाद चर्चा एक गर्म तर्क में बदल गई। पुलिस ने बताया कि शिवनारायण और मनोज के बीच कहासुनी हुई तो मनीष भी मौके पर पहुंच गया। इस पर भड़के मनोज ने अचानक अपनी लाइसेंसी पिस्टल निकाल ली और पहले अपने पिता शिवनारायण को गोली मार दी।

सेना के रिटायर्ड अधिकारी ने लाइसेंसी पिस्टल से मारी गोली

Patna Crime News: पटना में बेटे की हत्या मामले में गवाही देकर लौट रहे पिता-पुत्र को मारी गोली, पिता की मौत

गोली लगने से शिवनारायण जमीन पर गिरे तो मनीष ने मनोज को पकड़ने की कोशिश की। बाद में मनोज ने उस पर भी फायरिंग कर दी। गोलियों की आवाज सुनकर उसकी 65 साल की चाची अवधराजी ने मनोज को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन उसने उन्हें लाठी से मारा और मौके से भाग गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना के कुछ घंटे बाद मनोज लाइसेंसी पिस्टल के साथ कप्तानगंज थाने पहुंचा और सरेंडर कर दिया। आजमगढ़ के सर्कल ऑफिसर लालता प्रसाद ने कहा कि मनोज को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की आगे की जांच जारी है। 

Greater Noida Authority: ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सुपरवाइजर को बदमाशों ने गोली मारी, अस्पताल में भर्ती

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर