अधिकारियों को झांसे में लेकर वसूलती थी लाखों की फिरौती, हनीट्रैप केस में महिला की गिरफ्तारी से खुले कई राज

क्राइम
भाषा
Updated Jan 29, 2022 | 15:17 IST

हनीट्रैप केस में राजस्‍थान से एक महिला को गिरफ्तार किया गया है। आरोप है कि वह अधिकारयों को झांसे में लेकर उनसे लाखों रुपये वसूलती थी। महिला की गिरफ्तारी के बाद इस मामले में कई खुलासे सामने आए हैं। 

आरोप है कि महिला ने फोन के जरिये रेलकर्मी से दोस्‍ती की और फिर उससे 40 लाख रुपये की फ‍िरौती मांगी (iStock)
आरोप है कि महिला ने फोन के जरिये रेलकर्मी से दोस्‍ती की और फिर उससे 40 लाख रुपये की फ‍िरौती मांगी (iStock)  |  तस्वीर साभार: Representative Image

जयपुर : राजस्थान के सवाई माधोपुर में पुलिस ने हनीट्रैप के मामले में एक महिला को गिरफ्तार किया है। महिला पर आरोप है कि उसने रेलवे में टिकट कलेक्टर पीड़ित को कथित तौर प्रेम जाल में फंसा कर शारीरिक संबंध बनाए और दुष्कर्म का मामला दर्ज करवा कर 40 लाख रुपये को मांग की। सवाई माधोपुर के पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार ने बताया कि थाना बटोदा पुलिस ने आरोपी महिला प्रकाशी मीणा को हनीट्रैप के मामले में गिरफ्तार किया है। गिरोह के बाकी सदस्यों की तलाश की जा रही है।

उन्होंने बताया कि संबंध में थाना बटोदा में एक मामला दर्ज कराया गया था। प्राथमिकी के अनुसार प्रकाशी मीना नामक एक महिला ने रेलवे में टिकट कलेक्टर मुनिराज से मोबाइल कॉल के जरिए दोस्त की। फिर शारीरिक संबंध बनाकर उससे 40 लाख रुपये की मांग की। पैसे नहीं देने पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया गया। मुकदमा दर्ज कर जांच की गई तो साक्ष्यों व कॉल डिटेल विश्लेषण से मामला हनीट्रैप का पाया गया और इसके पीछे महिला सहित पांच-छह सदस्यों के गिरोह की भूमिका सामने आई। 

हनीट्रैप का शिकार रेलवे का कर्मचारी गिरफ्त में, जासूसी करने का आरोप

पुलिस को आरोपी महिला के साथियों की तलाश

पुलिस टीम ने आरोपी महिला प्रकाशी मीणा को गिरफ्तार कर लिया। उसके साथियों की तलाश की जा रही है। उन्होंने बताया कि इस गिरोह के लोग सरकारी कर्मचारी या व्यापारी की आर्थिक स्थिति, आचरण व मोबाइल नंबरों की जानकारी लेकर महिला प्रकाशी से कॉल करवा मित्रता करवाते। उसके बाद अपने शिकार को एकांत में मिलने के लिए बुलाकर शारीरिक संबंध बनाये जाते।

'हनीट्रैप' में फंसाकर डीआरडीओ सांइटिस्ट को बनाया बंधक, मामले में तीन गिरफ्तार

इस दौरान पहले से तय योजना के तहत महिला के अन्य सहयोगी मौके पर आकर व्यक्ति से मारपीट करते और उसे मुकदमे में फंसाने का भय दिखाकर तत्काल रुपये देने की मांग करते। रुपये नहीं देने पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाकर राजीनामा करने व मुकदमा वापस लेने के लिए रुपयों की मांग करते। गिरफ्तार महिला प्रकाशी इससे पहले बैंककर्मी, व्यापारी व अन्य के विरुद्ध दुष्कर्म के मुकदमे दर्ज करवा चुकी है। इन मामलों में प्रकाशी व उसके साथी कई बार जेल जा चुके हैं।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर