जोधपुर में रूह कंपा देने वाली वारदात, बोरे में बंद था 4 साल के मासूम का शव, फिरौती बनी जान की दुश्‍मन!

राजस्‍थान के जोधपुर से दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है, जहां चार साल के मासूम का शव बोरे में बंद मिला है। इस घटना से इलाके में हड़कंप मच गया है और लोग खौफजदा हो गए हैं।

जोधपुर में रूह कंपा देने वाली वारदात, बोरे में बंद था 4 साल के मासूम का शव, फिरौती बनी जान की दुश्‍मन!
जोधपुर में रूह कंपा देने वाली वारदात, बोरे में बंद था 4 साल के मासूम का शव, फिरौती बनी जान की दुश्‍मन!  |  तस्वीर साभार: Representative Image

जोधपुर : राजस्थान के जोधपुर से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां 4 साल के एक मासूम का शव बोरे में बंद बरामद किया गया है। शव क्षत-विक्षत अवस्‍था में था और इसे पोलो ग्राउंड के पास से बरामद किया गया। पुलिस ने मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। वारदात के पीछे 10 लाख के फिरौती की मांग को वजह बताया जाता रहा है।

जोधपुर में पुलिस ने बुधवार को पोलो ग्राउंड के पास से बच्‍चे का शव बरामद किया। किसी राहगीर ने बोरे को संदिग्‍ध अवस्‍था में देखकर पुलिस को सूचना दी थी, जिसके बाद वहां पुलिस की एक टीम पहुंची। जब उन्‍होंने बोरे को खोला तो हैरान रह गए। घटना के बारे में जिसने भी सुना, कलेजा मुंह में आ गया। आशंका जताई जा रही है कि अपराधियों ने दो-तीन पहले ही बच्‍चे की हत्‍या की।

15 मार्च से ही लापता था बच्चा

पुलिस ने आशंका जताई है कि बच्‍चे की हत्‍या संभवत: गला घोंटकर की गई है। उसके गले में रस्‍सी बंधी पाई गई है। बच्‍चे का शव जोधपुर जिले के रतनाड़ा इलाके में स्थित पोलो ग्राउंड के नजदीक बोरे में बंद मिला था। उसकी पहचान हिमांशु प्रजापत के तौर पर की गई है। घरवालों से पूछताछ के बाद पता चला कि वह सोमवार (15 मार्च) की शाम से ही कुम्हारिया कुआं इलाके से लापता था।

पुलिस का कहना है कि पीड़ित के पिता की शिकायत पर उन्‍होंने अपहरण का केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी थी, लेकिन इलाके से मिले सीसीटीवी फुटेज को देखने के बाद भी उन्‍हें मामले में कोई महत्वपूर्ण सुराग नहीं मिला। अधिकारियों का कहना है कि अपहरणकर्ताओं ने संभवत: 10 लाख रुपये की फिरौती बच्‍चे के पिता से मांगी थी और पुलिस के पास जाने पर बच्‍चे को जान से मारने की धमकी दी थी।

मामले में एक गिरफ्तार

वहीं स्‍थानीय लोगों का आरोप है कि अपहरण की सूचना मिलने के बाद भी पुलिस ने इस मामले को गंभीरता से नहीं लिया, जिसका नतीजा अंतत: इस रूप में सामने आया है। इस बीच पुलिस ने मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। जोधपुर के डीसीपी धर्मेंद्र यादव के मुताबिक, उसने अपराध में अपनी संलिप्‍तता स्‍वीकार कर ली है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर