UP: एक शख्स ने मंदिर में जीभ काटकर चढ़ाई तो दूसरे ने किया खुद की बलि देने का प्रयास

क्राइम
किशोर जोशी
Updated Oct 26, 2020 | 09:22 IST

आपने यूं तो अंधविश्वास की कई घटनाओं के बारे में सुना होगा लेकिन यहां हम आपको दो ऐसी घटनाओं के बारे में बता रहे हैं जिसे पढ़कर आप भी हैरान रह जाएंगे।

Man chops off his tongue in temple another slits throat as part of ritual sacrifice in UP
शख्स ने खुद क जीभ काटी, दूसरे ने की खुद की बलि देने की कोशिश 
मुख्य बातें
  • यूपी में अंधविश्वास की हैरान करने वाली दो घटनाएं आई सामने
  • बांदा जिले के एक गांव में शख्स ने खुद की जीभ काटकर मंदिर में चढ़ाई
  • वहीं हमीरपुर जिले में एक शख्स ने खुद की गर्दन काटकर मंदिर में चढ़ाने की कोशिश की

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में नवरात्रि के दौरान अलग-अलग जगहों पर दो ऐसी घटनाएं हुईं हैं जहां अंधविश्वास की सारी हदें पार कर दी गई हैं। एक शख्स ने जहां खुद की बलि देने की कोशिश की है वहीं दूसरे ने खुद की बलि देने का प्रयास किया है। फिलहाल गंभीर रूप से घायल इन दोनों लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। इस तरह की कुछ घटनाएं काफी समय पहले अलग-अलग राज्यों से भी सामने आई थी।

पहला मामला बांदा जिले का
पहला मामला यूपी के बांदा जिले का है, जहां के बबेरू कोतवाली के तहत आने वाले भाटी गांव के आत्मा राम (32) ने कथित तौर पर अपनी जीभ को काटकर मंदिर में चढ़ा दिया। जैसे ही इस घटना की खबर सामने आई तो वहां बड़ी संख्या में भीड़ एकत्र हो गई। इसके बाद पुलिस तक भी खबर पहुंच गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने युवक को तुरंत अस्पताल में भर्ती करा दिया, जहां फिलहाल उसकी हालत में सुधार है। युवक के पिता ने का कहना है कि वह मानसिक रूप से बीमार था और नवरात्रि के दौरान नौ दिन से व्रत कर रहा था। युवक के पिता ने कहा कि शायद किसी के बहकावे में आकर युवक ने ऐसा किया होगा।

खुद की बलि देने का प्रयास
वहीं यूपी के हमीरपुर में इसी तरह की दूसरी घटना हुई है। यहां  कुरारा थाना क्षेत्र के तहत आने वाले बेरी गांव के कोटेश्वर मंदिर में भगवान शंकर को खुश करने की कोशिश करने करते हुए खुद की बलि देने का प्रयास किया और अपनी गर्दन काट ली। गंभीर रूप से घायल शख्स को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है और पुलिस ने मामले की जांच करते हुए बलि चढ़ाने में प्रयुक्त हथियार को भी बरामद कर लिया है।

हालत नाजुक

बताया जाता है कि रुक्मणी शर्मा नाम का शक्स अक्सर तांत्रिक साधना में लीन रहता था और साधना में सिद्धि नहीं मिलने पर वह परेशान था। इसके बाद वह कोटेश्वर शिव मंदिर पहुंचा और सरौते से वार करते हुए अपनी गर्दन काटकर भगवान शिव को चढ़ाने की कोशिश की। फिलहाल रुक्मणी शर्मा की हालत नाजुक बनी हुई है और उसका इलाज जारी है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर